मालदा जिला पश्चिम बंगाल

मालदा जिला पश्चिम बंगाल के जिलों में एक जिला है, और इसका मुख्यालय इंग्लिश बाजार है, जिले में 2 तहसील है, 15 खंड या ब्लॉक है और 12 विधान सभा क्षेत्र है और 2 लोकसभा है।

मालदा जिला

मालदा जिले का क्षेत्रफल 3,733 किमी 2 (1,441 वर्ग मील) है और २०११ की जनगणना के अनुसार मालदा की जनसँख्या लगभग 3,997,970 है और जनसँख्या घनत्व 1071 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है, मालदा की साक्षरता 62.71% है, महिला पुरुष अनुपात यहाँ पर 939 है, जिले की जनसँख्या विकासदर २००१ से २०११ के बीच 21.05% रही है।

मालदा जिला भारत में कहाँ पर है

मालदा जिला भारत के राज्यो में पूर्व में स्थित पश्चिम बंगाल राज्य में है, मालदा जिला पश्चिम बंगाल के उत्तरी भाग में अंदर की तरफ है और मालदा 25°00′ उत्तर 88°09′ पूर्व के बीच स्थित है और इसके पश्चिम में बिहार और झारखण्ड के जिले है, मालदा की समुद्रतल से ऊंचाई 17 मीटर है, मालदा पश्चिम बंगाल की राजधानी कलकत्ता से 360 किलोमीटर उत्तर की तरफ राष्ट्रिय राजमार्ग 12 पर है और भारत की राजधानी दिल्ली से 1525 किलोमीटर दक्षिण पूर्व की तरफ राष्ट्रिय राजमार्ग 27 पर है।

मालदा जिले के पडोसी जिले

मालदा जिले के उत्तर में उत्तर दिनाजपुर जिला है, उत्तर पूर्व में दक्षिणी दिनाजपुर जिला है, पूर्व में सीमाएं बांग्लादेश से मिलती है, दक्षिण मुर्शिदाबाद जिला है, दक्षिण पश्चिम से पश्चिम में झारखण्ड का साहिबगंज जिला है, पश्चिम से उत्तर पश्चिम तक बिहार के जिले है, और ये जिला कटिहार जिला है।

Information about Malda in Hindi

नाम पश्चिम मेदिनीपुर
मुख्यालय इंग्लिश बाजार
राज्य पश्चिम बंगाल
क्षेत्रफल 3,733 किमी 2 (1,441 वर्ग मील)
जनसंख्या (2011) 3,997,970
पुरुष महिला अनुपात 939
विकास 21.05%
साक्षरता दर 62.71%
जनसंख्या घनत्व 1071 / किमी 2 (2770 / वर्ग मील)
ऊंचाई 17 मीटर (56 फीट)
अक्षांश और देशांतर 25°00′ उत्तर 88°09′ पूर्व
एसटीडी कोड 91-3512-2xxxxx
पिन कोड 73210x
तहसील 2
खंड 15
लोकसभा क्षेत्र 2
विधानसभा क्षेत्र 12
रेलवे स्टेशन मालदा टाउन रेलवे स्टेशन
एयर पोर्ट मालदा हवाई अड्डा
नदी (ओं) महानंदा, गंगा, पुनर्भबा, कालिन्द्री, नागरी, और फुलहर नदी
उच्च मार्ग NH 12, 19, 27, 34, 81
आधिकारिक वेबसाइट http://malda.nic.in/
आरटीओ कोड WB-65/WB-66

मालदा जिले का नक्शा मानचित्र मैप

मालदा जिले में कितनी तहसील ब्लॉक और उपमंडल है

मालदा जिले में प्रशासनिक विभाजन, उप मंडल 2 है, तालुके जिनको तहसील कहते है, ये जिले में 2 और इनके नाम चंचल और मालदा सदर है और जिले में 15 खंड है जिनको ब्लॉक भी कहते है इनके नाम चंचल -1, चंचल -2, रतुआ -1, रतुआ -2, हरिश्चंद्रपुर -1 और हरिश्चंद्रपुर -2, इग्लिस बाजार, गज़ोल, हबीबपुर, कालियाचक -1, कालियाचक -2, कलियाचक -3, मनीकचक, ओल्ड मालदा और बमंगोला है ।

मालदा जिले में विधान सभा और लोकसभा की सीटें

मालदा जिले में 12 विधानसभा क्षेत्र है जिनके नाम हबीबपुर, गजोल, चंचल, हरिश्चंद्रपुर, मालतिपुर, रतुआ, मानिकचक, मालदा, इंग्लिश बाजार, मोथबाड़ी, सुजापुर, बैसननगर और जिले में 2 संसदीय क्षेत्र है जिनके नाम मालदा उत्तर, मालदा दक्षिण है।

मालदा जिले का इतिहास

मालदा का इतिहास भारत के इतिहास में बहुत प्राचीन समय से विद्धमान है, जैसा की पाणिनि के ग्रंथो में इस स्थान विशेष का नाम गौरपुरा था, प्राचीन बंगाल में गौर और पंडुआ ये संयुक्त नगर कुछ समय के लिए सम्पूर्ण बंगाल की राजधानी थी और उसको पुण्ड्रबर्द्धन के नाम से जाना जाता था
पौंड्र राजवंश के बाद पाल और उसके बाद में सेन राज वंश ने यहाँ पर १२ वि शताब्दी तक राज किया इसके बाद १२०४ में बख्तियार खिलजी आ गया जिसने यहाँ के भूभाग को दूषित करना शुरू कर दिया।
१७५७ के प्लासी की लड़ाई के बाद यह भूभाग अंग्रेजो के कब्जे में आ गया, और १८७६ में इसको राजशाही मंडल के अंतर्गत आ गया था, जब देश के विभाजन हुआ तो ये नगर किस तरफ जायेगा इसका कोई निर्णय नहीं हुआ इसलिए १७ अगस्त १९४७ तक या पूर्वी पाकिस्तान के जिलाधिकारी के अधिकार में रहा और १७ अगस्त के बाद ये पश्चिम बंगाल के अंतर्गत आ गया था तबै से यह पश्चिम बंगाल का एक जिला है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *