कानपुर जिले में कितने गांव है

कानपुर जिला उत्तर प्रदेश के लगभग दक्षिण मध्य भाग में स्थित एक जिला है इसकी उत्तरी सीमाएं हरदोई जिले के गांव से मिलती है, कुछ उत्तरी भाग और ज्यादातर उत्तर पूर्वी सीमाएं उन्नाओ जिले के गांव से मिलती है, दक्षिण … Continue reading

कानपुर देहात जिले में कितने गांव है

कानपुर देहात जिला उत्तर प्रदेश के लगभग दक्षिण मध्य भाग में स्थित एक जिला है इसकी उत्तरी सीमाएं कन्नौज जिले के गांव से मिलती है, कुछ उत्तरी भाग और ज्यादातर उत्तर पूर्वी सीमाएं कानपूर नगर जिले के गांव से मिलती … Continue reading

कन्नौज जिले में कितने गांव है

कन्नौज जिला उत्तर प्रदेश के लगभग मध्य भाग में स्थित एक जिला है इसकी उत्तरी सीमाएं फरुखाबाद जिले के गांव से मिलती है, कुछ उत्तरी भाग और ज्यादातर उत्तर पूर्वी सीमाएं हरदोई जिले के गांव से मिलती है, पूर्वी सीमाएं … Continue reading

अमरोहा जिले में कितने गांव है

अमरोहा जिला उत्तर प्रदेश के उत्तर पश्चिमी भाग में स्थित एक जिला है इसकी उत्तरी सीमाएं बिजनौर जिले में स्थित बिजनौर जिले के गांव से मिलती है, उत्तर पूर्वी सीमाएं मुरादाबाद जिले से मिलती है, पूर्वी सीमाएं संभल जिले से … Continue reading

झांसी जिले में कितने गांव है

झांसी जिला उत्तर प्रदेश के दक्षिणी भाग में स्थित एक जिला है इसकी उत्तरी सीमाएं जालौन जिले से मिलती है, उत्तर पूर्वी सीमाएं हमीरपुर जिले से मिलती है, पूर्वी सीमाएं महोबा जिले से मिलती है, दक्षिण पूर्वी सीमाएं मध्य प्रदेश … Continue reading

हरदोई जिले में कितने गांव है

हरदोई जिला उत्तर प्रदेश के लगभग मध्य भाग में स्थित एक जिला है इसकी उत्तरी सीमाएं शाहजहांपुर जिले और लखीमपुर खीरी से मिलती है, उत्तर पूर्वी सीमाएं सीतापुर जिले से मिलती है, पूर्वी सीमाएं लखनऊ जिले से मिलती है, दक्षिण … Continue reading

चित्रकूट जिले में कितने गांव और तहसील है

चित्रकूट जिला भारत के राज्य उत्तर प्रदेश में दक्षिण की तरफ नव निर्मित जिला है, चित्रकूल जिले में कुल ग्रामो की संख्या ६५६ है जो की दो ब्लॉक या तहसील के अंतर्गत आती है, उत्तर प्रदेश के जिले चित्रकूट की … Continue reading

दादासाहेब फाल्के पुरस्कार

दादा साहेब फाल्के जी को भारतीय सिनेमा का प्रणेता या जनक कहा जाए तो कोई अतिशियोक्ति नहीं होगी, दादा साहेब फाल्के का पूरा नाम धुंडीराज गोविंद फाल्के था, इनका जन्म ३० अप्रैल १८७० में तत्कालीन ब्रिटिश शासन के अधीन भारत … Continue reading

भारत के राज्यों के राजकीय पक्षी

जब भारत स्वतंत्र हुआ और राज्यों का पुनर्गठन हुआ उस समय प्रत्येक राज्य ने अपने राजकीय चिन्हो का निर्धारण किया था, इसी में से प्रमुख था उस राज्य का राजकीय पक्षी जो की उस राज्य में विशेष महत्त्व रखता है, … Continue reading

असम में लोकसभा की सीटें

असम, जो कि भारत के उत्तरी पूर्वी भाग का एक राज्य है, असम के 33 जिलों के बीच में सिर्फ 14 लोक सभा क्षेत्र है, १४ लोक सभा के लिए पहले लखीमपुर लोक सभा क्षेत्र से सर्वानंद सोनोवाल चुने गए … Continue reading