पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां और तथ्य

राज्य पश्चिम बंगाल (West Bengal)
राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (TMC)
उप मुख्यमंत्री NA
आधिकारिक वेबसाइट https://www.westbengal.gov.in/portal/web/guest/home
स्थापना का दिन 26 जनवरी 1950
क्षेत्रफल 88752 वर्ग किमी
घनत्व 1040 प्रति वर्ग किमी
जनसंख्या (2011) 91,347,736
पुरुषों की जनसंख्या (2011) 46,859,027
महिलाओं की जनसंख्या (2011) 44,488,709
शहरी जनसंख्या % में (2011) 49.17%
जिले 20
राजधानी कोलकाता
उच्च न्यायलय कलकत्ता उच्च न्यायालय
जनसँख्या में स्थान [भारत में ] 4th
क्षेत्रफल में स्थान [भारत में ] 14th
धर्म हिन्दू, मुस्लिम, क्रिश्चियन, बुद्धिज़्म, सिख, अन्य धर्म
नदियाँ भागीरथी नदी, हुगली नदी, तीस्ता, तोरसा, जलधक, महानंदा रिवर्स, दामोदर, अजय, कंग्साबाती, दामोदर,
वन एवं राष्ट्रीय उद्यान सुंदरवन राष्ट्रीय उद्यान, बुक्सा टाइगर रिजर्व, गोरुमारा राष्ट्रीय उद्यान, न्योरा घाटी राष्ट्रीय उद्यान और सिंगालीला राष्ट्रीय उद्यान
भाषाएँ बंगाली, अंग्रेजी, हिंदी, नेपाली (दार्जिलिंग जिले के तीन उप विभाजनों में)
पड़ोसी राज्य असम, सिक्किम, बिहार, झारखंड, ओडिशा
राजकीय पशु फिशिंग कैट
राजकीय पक्षी वाइट-थ्रोअतेद किंगफ़िशर
राजकीय वृक्ष छातिम ट्री
राजकीय फूल नाईट-फ्लोवेरिंग जास्मिन
नृत्य गम्भीरा, कालिकपटाड़ी, अल्काप, डोमनी
खेल फ़ुटबॉल
नेट राज्य घरेलू उत्पाद (2013-2014) 818,700 करोड़ रुपया
साक्षरता दर (2011) 77.84%
1000 पुरुषों पर महिलायें 947
सदन व्यवस्था एक सदनीय
विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र 295
विधान परिषद् सीटे NA
संसदीय निर्वाचन क्षेत्र 42
राज्य सभा सीटे 16

पश्चिम बंगाल का नक्शा

गूगल मैप की सहायता से बना हुआ West Bengal Ka Naksha

पश्चिम बंगाल का इतिहास

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता है, मुख्य भाषा बांग्ला है। बंगाल पर इस्लामी शासन १३ वीं शताब्दी से प्रारंभ हुआ तथा १६ वीं शताब्दी में मुग़ल शासन में व्यापार तथा उद्योग का एक समृद्ध केन्द्र में विकसित हुआ। १८ वीं शताब्दी के अन्त तक यह क्षेत्र ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के नियन्त्रण में आ गया था। भारत में ब्रिटिश साम्राज्य का उद्गम यहीं से हुआ। १९४७ में भारत स्वतंत्र हुआ और इसके साथ ही बंगाल, मुस्लिम प्रघान पूर्व बंगाल (जो बाद में बांग्लादेश बना) तथा हिंदू प्रघान पश्चिम बंगाल (भारतीय बंगाल) में विभाजित हुआ।

Comments are closed.