श्री गंगानगर राजस्थान

श्रीगंगानगर जिला राजस्थान के जिलों में १५वा सर्वाधिक जनसँख्या बाला जिला है, श्री गंगानगर बीकानेर मण्डल का जिला है और इसका मुख्यालय श्रीगंगानगर नगर में ही है। इसका बाण बीकानेर के महाराज गंगा सिंह के नाम पर पड़ा, उन्होंने ही ८९ मील लंबी गंगा नहर बंबई जो की सतलज नदी से हुदी हुयी है।
श्री गंगानगर जिले का क्षेत्रफल १११५४ वर्ग किलोमीटर है, और २०११ की जनगणना के अनुसार श्री गंगानगर की जनसँख्या १९५९५२० और जनसँख्या घनत्व १७९ व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है, श्री गंगानगर की साक्षरता ५६% है, महिला पुरुष अनुपात यहाँ पर ८८९ महिलाये प्रति १००० पुरुषो पर है, जिले की जनसँख्या विकासदर २००१ से २०११ के बीच १०,०७ % रहा है।

श्री गंगानगर भारत में कहाँ पर है

श्री गंगानगर जिला राजस्थान में है जो की भारत का राज्य है, श्री गंगानगर जिला राजस्थान का सबसे उत्तरी जिला है, जिले की उत्तर पश्चिम, पश्चिम और दक्षिण पश्चिम तक की सीमाएं पाकिस्तान के पंजाब प्रान्त की सीमाओ से मिलती है, श्री गंगानगर के अक्षांस और देशांतर क्रमशः २९ डिग्री ९२ मिनट उत्तर से ७३ डिग्री ८८ मिनट पूर्व तक है, श्री गंगानगर की समुद्रतल से ऊंचाई १७८ मीटर है, श्री गंगानगर जयपुर से 427 किलोमीटर उत्तर पश्चिम की तरफ है और देश की राजधानी दिल्ली से भी ४१९ किलोमीटर पश्चिम की तरफ ही है।

श्री गंगानगर के पडोसी जिलें

श्री गंगानगर का उत्तरी किनारा पंजाब के फाज़िलका जिले जुड़ा है, पूर्वी किनारा हनुमानगढ़ से जुड़ा है, जबकि दक्षिण पूर्व से दक्षिण तक का भाग बीकानेर से जुड़ा हुआ है, बाकि का भाग पाकिस्तान के पंजाब प्रान्त की सीमाओ से लगा हुआ है ।

Information about Sri Ganganagar in Hindi

नाम श्री गंगानगर
राज्य राजस्थान
क्षेत्र 225 किमी 2 (87 वर्ग मील)
श्री गंगानगर की जनसंख्या 254,760
अक्षांश और देशांतर 29.9038 डिग्री न, 73.8772 डिग्री ई
श्री गंगानगर का एसटीडी कोड 154
श्री गंगानगर का पिन कोड 335001
जिला मजिस्ट्रेट (डीएम कलेक्टर) श्री आर एस जाखड़
पुलिस अधीक्षक (एसपी / एसएसपी) रघु कटेकी
मुख्य विकास अधिकारी श। जीएस तिवारी
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ। हरबंस सिंह
संसद के सदस्य भरत राम मेघवाल
विधायक कामिनी जिंदल
उपखंडों की संख्या  
तहसील की संख्या 9
गांवों की संख्या 3078
रेलवे स्टेशन गंगानगर जंक्शन
बस स्टेशन श्री गंगानगर बस स्टेशन
श्री गंगानगर में एयर पोर्ट श्री गुरु राम दास जे अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे
श्री गंगानगर में होटल की संख्या 98
डिग्री कॉलेजों की संख्या 2
अंतर कॉलेजों की संख्या 58
मेडिकल कॉलेजों की संख्या 4
इंजीनियरिंग कॉलेजों की संख्या 15
श्री गंगानगर में कंप्यूटर केंद्र 79
श्री गंगानगर में मॉल 1
श्री गंगानगर में अस्पताल 75
श्री गंगानगर में विवाह हॉल 21
नदी (ओं) सतलज नदी (पानी गंगा नहर में आया था)
उच्च मार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग 21
ऊंचाई 178 मीटर (584 फीट)
घनत्व 1,100 / किमी 2 (2,900 / वर्ग मील)
आधिकारिक वेबसाइट Http://ganganagar.rajasthan.gov.in/
साक्षरता दर 60.07%
बैंक आईसीआईसीआई बैंक, आंध्र बैंक, एक्सिस बैंक, विजया बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफसी बैंक, यूनियन बैंक, डीसीबी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, इलाहाबाद बैंक, एसबीबीजे बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, इलाहाबाद बैंक
प्रसिद्ध नेता (ओं) जगजीत सिंह
राजनीतिक दलों भाजपा, बसपा, सीपीआई, कांग्रेस
आरटीओ कोड आरजे 13
आधार कार्ड केंद्र 3
स्थानीय परिवहन टैक्सी, कार, बस, ट्रेन, हवाई अड्डे
मीडिया समाचार पत्र, ग्रामीण / शहरी होने के रेडियो, ट्रांजिस्टर, मीडिया, टेलीविजन
विकास 10.06%
यात्रा स्थलों बालाजी धाम, हिंदुमलकॉट बॉर्डर, गौरी शंकर मंदिर, गुरुद्वारा श्री बुद्ध जोहर शाहब, लैला मजनू की मजार,
आयुक्त आनंद कुमार

श्री गंगानगर का नक्शा मानचित्र मैप

गूगल मैप द्वारा निर्मित श्री गंगानगर का मानचित्र, इस नक़्शे में श्री गंगानगर के महत्वपूर्ण स्थानों को दिखाया गया है

श्री गंगानगर जिले में कितनी तहसील है

श्रीगंगानगर जिले में ९ तहसीलें है, इन तहसीलों के नाम श्री गंगानगर, श्री करनपुर, सदुलशहर, पद्मपुर, रायसिंगनगर, सूरतगढ़, अनूपगढ़, श्री विजयनगर और घारसाना है

श्री गंगानगर जिले में विधान सभा की सीटें

श्रीगंगानगर जिले में ५ विधान सभा सीटें है, इन ५ विधानसभा क्षेत्रो के नाम 1. गंगानगर 2. करणपुर 3. सूरतगढ़ 4. रायसिंगनगर (एससी) और 5. अनुपगढ़ (एससी), इन ५ विधान सभा क्षेत्रो में २ विधानसभा सीटें अनुसूचित जाती के लोगो के लिए आरक्छित है।

श्रीगंगानगर का इतिहास

श्रीगंगानगर राजस्थान का एक जिला है। श्रीगंगानगर जनपद का प्रमुख प्रशासकीय केंद्र तथा विकासशील नगर भी है। इसका नामकरण बीकानेर के महाराज गंगासिंह के नाम पर हुआ है, जिन्होंने गंगा नहर का निर्माण करब्या था, जब भारत देश में 1899 से 1900 में अकाल और सूखा पड़ा था, इस नहर में सतलुज नदी का पानी आता है और ये नहर 1927 में शुरू हुयी थे, 89 मील लंबी है। यह जिले के सर्वाधिक समुन्नत तथा सिंचित कृषिक्षेत्र में स्थित होने के कारण प्रमुख व्यापारिक मंडी तथा यातायात केंद्र हो गया है। श्रीगंगानगर को राजस्थान का अन्न का कटोरा भी कहा जाता है | यहाँ जनपदीय प्रशासनिक कार्यालयों तथा न्यायालयों के अतिरिक्त कई स्नातक महाविद्यालय तथा अन्य सांस्कृतिक संस्थान हैं। यहाँ एक औद्योगिक संस्थान की भी स्थापना हुई है। श्रीगंगानगर में श्री बुड्ढाजोहड़ गुरुद्वारा व लैला-मजनुं की मजार प्रमुख दर्शनीय स्थल हैं |


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *