हुगली जिला पश्चिम बंगाल

हुगली जिला पश्चिम बंगाल के जिलों में एक जिला है, और इसका मुख्यालय चुचुरा (इसका एक नाम चिनसुरा भी है) है, जिले में 4 तहसील है, 18 खंड या ब्लॉक है और 18 विधान सभा क्षेत्र है और 3 लोकसभा है।

हुगली जिला

हुगली जिले का क्षेत्रफल 3,149 किमी 2 (1,216 वर्ग मील) है और २०११ की जनगणना के अनुसार हुगली की जनसँख्या लगभग 5,520,389 है और जनसँख्या घनत्व 1753 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है, हुगली की साक्षरता 82.55% है, महिला पुरुष अनुपात यहाँ पर 958 है, जिले की जनसँख्या विकासदर २००१ से २०११ के बीच 9.49% रही है।

हुगली जिला भारत में कहाँ पर है

हुगली जिला भारत के राज्यो में पूर्व में स्थित पश्चिम बंगाल राज्य में है, हुगली जिला पश्चिम बंगाल के दक्षिणी भाग की तरफ है और हुगली 22°99′ उत्तर 88°39′ पूर्व के बीच स्थित है और हुगली की समुद्रतल से ऊंचाई 12 मीटर है, हुगली पश्चिम बंगाल की राजधानी कलकत्ता से 60 किलोमीटर उत्तर पूर्व की तरफ राष्ट्रीय राजमार्ग 19 पर है और भारत की राजधानी दिल्ली से 1476 किलोमीटर दक्षिण पूर्व की तरफ राष्ट्रिय राजमार्ग 19 पर है।

हुगली जिले के पडोसी जिले

हुगली जिले के उत्तर में बर्धमान जिला है, पूर्व में नाड़िआ जिला है और दक्षिण पूर्व में उत्तर २४ परगना जिला है, दक्षिण में हावड़ा जिला है, दक्षिण पश्चिम में पश्चिमी मेदिनीपुर जिला है, पश्चिम में बांकुरा जिला है।

Information about Hooghly in Hindi

नाम हुगली
मुख्यालय चुचुरा (चिनसुरा)
राज्य पश्चिम बंगाल
क्षेत्रफल 3,149 किमी 2 (1,216 वर्ग मील)
जनसंख्या (2011) 5,520,389
पुरुष महिला अनुपात 958
विकास 9.49%
साक्षरता दर 82.55%
जनसंख्या घनत्व 1753 / किमी 2 (4,540 / वर्ग मील)
ऊंचाई 12 मीटर (39 फुट)
अक्षांश और देशांतर 22°99′ उत्तर 88°39′ पूर्व
एसटीडी कोड 91-033
पिन कोड 712101, 712102, 712103, 712105, 712106
तहसील 4
खंड 18
लोकसभा क्षेत्र 3
विधानसभा क्षेत्र 18
रेलवे स्टेशन हुगली रेलवे स्टेशन
एयर पोर्ट कोलकाता एयरपोर्ट असम
नदी (ओं) हुगली, दामोदर और आदि गंगा नदी
उच्च मार्ग एनएच 2, एनएच 6, ग्रांड ट्रंक रोड, एनएच 19
आधिकारिक वेबसाइट http://www.hooghly.gov.in/
आरटीओ कोड WB-12

हुगली जिले का नक्शा मानचित्र मैप

हुगली जिले में कितनी तहसील ब्लॉक और उपमंडल है

हुगली जिले में प्रशासनिक विभाजन, उप मंडल 4 है, तालुके जिनको तहसील कहते है, ये जिले में 4 और इनके नाम चिनसुरा, चंदननगर, श्रीरामपुर और आरामबाग है और जिले में 18 खंड है जिनको ब्लॉक भी कहते है इनके नाम बालागढ़, चिसुरह-मोगरा, धनियाखी, पांडुआ और पोल्बा-दादापुर, हरिपल, सिंगूर और तारकेवार, चंदिताला -1, चंदिताला- II, जंगली और श्रीरामपुर उत्तरपारा, आरामबाग, खानकुल–1, खानकुल–2, गोघात–1, गोघात–2 और पुरसुरा है ।

हुगली जिले में विधान सभा और लोकसभा की सीटें

हुगली जिले में 18 विधानसभा क्षेत्र है जिनके नाम उत्तरपारा, श्रीरामपुर, चंपदानी, सिंगुर, चंदननगर, चंचुरा, बालागढ़, पांडुआ, सप्तग्राम, चंदिताला, जंगपुरा, हरिपल, धनकेलाली, तारकेवार, पुसूर, अराम्बग, गोगाट, खानकुल और जिले में 3 संसदीय क्षेत्र है जिनके नाम अराबाघ (पश्चिम मेदिनीपुर में 1 विधानसभा क्षेत्र के साथ), हुगली, सेरामपुर (हावड़ा जिले में 2 विधानसभा क्षेत्रों के साथ) है।

हुगली जिले का इतिहास

हुगली का इतिहास भारत के इतिहास में लगभग ५०० साल पुराना है, इस स्थान का वर्णन एक विदेशी यात्री ने ने किया था की यहाँ पर जहाजों के द्वारा व्यापर किया जा सकता है, शायद वो १५६५ से १५७९ तक यहाँ पर यात्री के रूप में रहा होगा, १५७९ से १५८० के आसपास अकबर ने पुर्तग़ालिओ को यहाँ पर अपनी वस्ति बनाने की अनुमति दी थी, इसके बाद जब ईस्ट इंडिया कंपनी ने पैर ज़माने शुरू किया १७१३ में औरंगजेब के पोते को यही हुगली नदी के आजु बाजू में १५-१६ गाओं देकर निर्वासित कर दिया था, फिर १७६० में मेरे कासिम ने भी इस भू भाग पर अधिपत्य किया कुछ समय के लिए, लेकिन शीध्र ही या अंग्रेजो के हाथो में आ गया, अंग्रेजो ने इस समस्त भूभाग को हुगली जिले के साथ जोड़ कर हुगली को १७८७ में जिला बना दिया, यह व्यवस्था १८४३ तक चलती ताहि, और १८४३ में हावड़ा को एक अलग जिला बना कर हुगली जिले से अलग कर दिया गया, और ये व्यवस्था आज तक चल रही है।

Comments are closed.