दौसा़ राजस्थान

दौसा जिला राजस्थान के जयपुर मंडल का एक जिला है, जिले के मुख्यालय दौसा शहर में ही है, दौसा को एक जिले के रूप में मान्यता १० अप्रैल १९९१ में मिली थी जब जयपुर जिले की ४ तहसीलों को मिलकर दौसा जिला बनाया गया था और १ तहसील सवाई माधोपुर से दौसा जिले में १५ अगस्त १९९२ में जोड़ दी गयी थी।

दौसा जिले का क्षत्रफल ३४३२ वर्ग किलोमीटर है, २०११ की जनगणना के अनुसार दौसा की जनसँख्या १६३४४०९ है और जनसँख्या घनत्व ४७६ व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है, दौसा की साक्षरता ७०% है और महिला पुरुष अनुपात ९०४ महिलाये प्रति १००० पुरुषो पर है, २००१ से २०११ के बीच जनसख्या विकास दर २४.३१% रही है।

दौसा भारत में कहाँ पर है

दौसा जिला राजस्थान के उत्तर पूर्वी भाग में है, दौसा के अक्षांस और देशांतर क्रमशः २६ डिग्री ८९ मिनट उत्तर से ७६ डिग्री ३३ मिनट पूर्व तक है, दौसा की समुद्रतल से ऊंचाई ३२७ मीटर है, दौसा जयपुर से ६१ किलोमीटर पूर्व में है और दिल्ली से २६८ किलोमीटर दक्षिण में है।

दौसा जिले के पडोसी जिले

दौसा जिले के उत्तर में अलवर जिला है, पूर्व में भरतपुर है, दक्षिण पूर्व में करोली जिला है, दक्षिण पश्चिम में सवाई माधोपुर है और पश्चिम में जयपुर जिला है।

Information about Dausa in Hindi

नाम दौसा
राज्य राजस्थान
क्षेत्र 16.00 किमी 2
दौसा की जनसंख्या 85, 9 60
अक्षांश और देशांतर 26.790 9 डिग्री नं, 76.3637 डिग्री ई
दौसा का एसटीडी कोड 1427
दौसा की पिन कोड 303303
जिला मजिस्ट्रेट (डीएम कलेक्टर) श। अशफाक हुसैन
पुलिस अधीक्षक (एसपी / एसएसपी) योगेश यदाव
मुख्य विकास अधिकारी श्रीधरमंद्रा
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ ओ.पी. बैरवा
संसद के सदस्य हरीश चंद्र मीणा
विधायक शंकर लाल शर्मा
उपखंडों की संख्या
तहसील की संख्या 5
गांवों की संख्या 1114
रेलवे स्टेशन दौसा रेलवे स्टेशन
बस स्टेशन दौसा बस स्टेशन
दौसा में एयर पोर्ट दौसा में हवाई अड्डा,
दौसा में होटल की संख्या 53
डिग्री कॉलेजों की संख्या 1
अंतर कॉलेजों की संख्या 41
मेडिकल कॉलेजों की संख्या 20
इंजीनियरिंग कॉलेजों की संख्या 22
दौसा में कंप्यूटर केंद्र 38
डौसा में मॉल 2
दौसा में अस्पताल 10
दौसा में विवाह हॉल 7
नदी (ओं) बाणगंगा
उच्च मार्ग राज्य राजमार्ग 2
ऊंचाई 327 मीटर (1,073 फीट)
घनत्व 476 व्यक्ति / वर्ग किलोमीटर
आधिकारिक वेबसाइट Http://www.dausa.rajasthan.gov.in/content/raj/dausa/en/home.html#
साक्षरता दर 84.54%
बैंक एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, स्टेट बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, यूनियन बैंक, एचडीएफसी बैंक, कैनरा बैंक, यस बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, कॉर्पोरेशन बैंक, इलाहाबाद बैंक, एक्सिस बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, एचडीएफसी बैंक
प्रसिद्ध नेता (ओं) हेलला गायक
राजनीतिक दलों भाजपा, कांग्रेस, बसपा
आरटीओ कोड आरजे -2 9
आधार कार्ड केंद्र 5
स्थानीय परिवहन कार, ट्रेन, बस और टैक्सी
मीडिया समाचार पत्र, ग्रामीण / शहरी होने के रेडियो, ट्रांजिस्टर, मीडिया, टेलीविजन
विकास 24.0 9%
यात्रा स्थलों मेहंदीपुर बालाजी मंदिर, हर्षत माता मंदिर, गोपीनाथ मंदिर, सोमेश्वर मंदिर, श्री गिरिराज जी महाराज, फोर्ट माधोपढ़

 

दौसा़ का नक्शा मानचित्र मैप


गूगल मैप द्वारा निर्मित दौसा़ का मानचित्र, इस नक़्शे में दौसा़ के महत्वपूर्ण स्थानों को दिखाया गया है

दौसा़ जिले में कितनी तहसील है

दौसा जिले में ५ तहसीलें है, जिनके नाम 1. बसवा 2. दौसा 3. लालसोट 4. महवा और 5. सीकरी है, इन ५ तहसीलों में लालसोट सबसे बड़ी तहसील है जबकि सीकरी तहसील सबसे छोटी तहसील है।

दौसा़ जिले में विधान सभा की सीटें

दौसा जिले में ४ विधानसभा क्षेत्र है, इन विधान सभा सीटों के नाम 1. महवा, 2. सीकरी (SC), 3. दौसा, 4. लालसोट (ST) और इन ४ विधान सभा क्षेत्रो में १ विधान सभा सीट अनुसूचित जाती और १ विधानसभा सीट अनुसूचित जान जाती के लिए आरक्छित है।

दौसा़ जिले में कितने गांव है

दौसा जिले में १०८९ गांव है जो की ५ तहसीलों के अंदर है, ग्रामो की संख्या तहसीलों के नाम के साथ इस प्रकार से है 1. बसवा तहसील में २२९ गांव है, 2. दौसा में २४६ गांव है, 3. लालसोट में ३१५ गांव है, 4. महवा तहसील में 161 गांव है और 5. सीकरी तहसील में १३८ गांव है

दौसा का इतिहास

दौसा भारत के राजस्थान का एक प्रमुख शहर है। यह जयपुर से 54 किमी. की दूरी पर स्थित है। दौसा का नाम पास ही की देवगिरी पहाड़ी के नाम पर पड़ा। दौसा कच्छवाह राजपूतों की पहली राजधानी थी। इसके बाद ही उन्होंने आमेर और बाद में जयपुर को अपना मुख्यालय बनाया। 1562 में जब अकबर ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की जियारत को गए तब वे दौसा में रुके थे। दौसा में ऐतिहासिक महत्व के अनेक स्थान है जो यहाँ के प्राचीन साम्राज्य की याद दिलाते हैं

दौसा का मध्यकालीन इतिहास

दौसा जिला एक ऐसे क्षेत्र में है जिसे डुण्ढार क्षेत्र कहा जाता है, इस क्षेत्र पर पहले चौहानो और फिर बढ़- गुर्जरो ने राज्य किया, इन्होंने १०वी शताब्दी में राज्य किया, दौसा का सम्मान इस बात में भी था की ये ढूंढार राज्य की राजधानी बना, यहाँ पर चौहान राजन सूद देव ने ९९६ से १००६ ईश्वी तक राज किया, उसकी बाद १००६ से १०३६ तक दूल्हे राज ने यहाँ पर शाशन किया।

दौसा का आधुनिक इतिहास

दौसा जिले का गठन १० अप्रैल १९९१ में हुआ, इसे ४ तहसीलों को मिलकर बनाया गया, जिनके नाम दौसा, बसवा, सीकरी और लालसोट है, इसे जयपुर जिले से अलग कर के बनाया गया था।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *