बस्तर छत्तीसगढ़

बस्तर जिला छत्तीसगढ़ के 27 जिलों में एक जिला है, बस्तर बस्तर मण्डल का जिला है और इसका मुख्यालय जगदलपुर में है। इस जिले में 2 उपमंडल है, 8 ब्लॉक है, 606 गांव, 1 लोक सभा सीट है और 7 विधान सभा क्षेत्र है।

बस्तर जिले का क्षेत्रफल 10,470 वर्ग किलोमीटर है, और २०११ की जनगणना के अनुसार बस्तर की जनसँख्या 1,411,647 और जनसँख्या घनत्व 130/km2 व्यक्ति [प्रति वर्ग किलोमीटर] है, बस्तर की साक्षरता 54.94% है, महिला पुरुष अनुपात यहाँ पर 1080 महिलाये प्रति १००० पुरुषो पर है, जिले की जनसँख्या विकासदर २००१ से २०११ के बीच 17.83 % रहा है।

बस्तर भारत में कहाँ पर है

बस्तर जिला भारत के राज्यो में पूर्व की तरफ की अंदर की तरफ स्थित छत्तीसगढ़ राज्य में है, बस्तर जिला छत्तीसगढ़ के दक्षिण पश्चिमी भाग का जिला है, जिले के दक्षिण पूर्व में पूर्वी ओडिसा है, बस्तर के अक्षांस और देशांतर क्रमशः 19 डिग्री 06 मिनट उत्तर से 82 डिग्री 03 मिनट पूर्व तक है, बस्तर की समुद्रतल से ऊंचाई 552 मीटर है, बस्तर रायपुर से 292 किलोमीटर दक्षिण की तरफ है और देश की राजधानी दिल्ली से 1513 किलोमीटर दक्षिण पूर्व की तरफ ही है।

बस्तर के पडोसी जिले

बस्तर के उत्तर में धमतरी है दक्षिण पूर्व में पूर्वी ओडिसा के जिले है, जो की क्रमशः नबरंगपुर और कोरापुट जिले है, दंतेवाड़ा जिला दक्षिण में है, और पश्चिम में नारायणपुर और उत्तर पश्चिम में कांकेर जिला है ।

Information about Bastar in Hindi

नाम बस्तर
प्रशासनिक प्रभाग बस्तर
मुख्यालय जगदलपुर
राज्य छत्तीसगढ़
क्षेत्र 10,470 किमी 2 (4,040 वर्ग मील)
बस्तर की जनसंख्या 1,411,647
पुरुष महिला अनुपात 1,080
घनत्व 140 निवासियों प्रति वर्ग किलोमीटर (360 / वर्ग मील)
विकास 17.83%
साक्षरता दर 54.94%
ऊंचाई 552 मीटर (1,811 फीट)
अक्षांश और देशांतर 19.0667 डिग्री नं, 82.0331 डिग्री ई
बस्तर की एसटीडी कोड 7782
बस्तर की पिन कोड 494001
जिला मजिस्ट्रेट (डीएम कलेक्टर) श्री अमित कटारिया [आईएएस]
पुलिस अधीक्षक (एसपी / एसएसपी) श्री आलोक कुमार
मुख्य विकास अधिकारी मयंक श्रीवास्तव
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ संगीता पीटर्स,
संसद के सदस्य दिनेश कश्यप
विधायक श्री शिवशंकर पिक्रा, बीजेपी,
उपखंडों की संख्या 2
तहसील की संख्या 4
गांवों की संख्या 618
रेलवे स्टेशन बस्तर रेलवे
बस स्टेशन महात्मा गांधी बस स्टेशन
बस्तर में एयर पोर्ट जगदलपुर, बस्तर
बस्तर में होटल की संख्या 3
डिग्री कॉलेजों की संख्या 1
अंतर कॉलेजों की संख्या 1
मेडिकल कॉलेजों की संख्या 7
इंजीनियरिंग कॉलेजों की संख्या 9
बस्तर में कंप्यूटर केंद्र 3
बस्तर में मॉल बिनाका शॉपिंग मॉल
बस्तर में अस्पताल 1
बस्तर में विवाह हॉल 1
नदी (ओं) इंद्रावती
उच्च मार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग 43
आधिकारिक वेबसाइट Http://bastar.gov.in/
बैंक भारतीय स्टेट बैंक, एक्सिस बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, बैंक ऑफ इंडिया, केनरा बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, आईसीआईसीआई बैंक, आईडीबीआई बैंक, इंडसइंड बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, सिंडिकेट बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (यूबीआई), इलाहाबाद बैंक
प्रसिद्ध नेता (ओं) महाराजा कमल चंद्र भंज देव
राजनीतिक दलों भाजपा, कांग्रेस
आरटीओ कोड सीजी -17
आधार कार्ड केंद्र 36
प्रमुख निर्यात वस्तु ना
स्थानीय परिवहन साइकिल, रिक्शा, टैक्सी, टैक्सी, बस
मीडिया खबर मीडिया
यात्रा स्थलों कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान, कैलाश और कुटमेर, श्री वेंकटेश्वर स्वामी मंदिर
आयुक्त दिलीप कुमार वासनिकर

बस्तर का नक्शा मानचित्र मैप

गूगल मैप द्वारा निर्मित बस्तर का मानचित्र, इस नक़्शे में बस्तर के महत्वपूर्ण स्थानों को दिखाया बस्तर है

बस्तर जिले में कितनी तहसील है

बस्तर जिले में 7 ब्लॉक या तहसीलें है, इन तहसीलों के नाम इस प्रकार से है जगदलपुर, बस्तर, बस्तानार, बकावंद, दरभा, टोकपाल, लोहंडीगुडा।

बस्तर जिले में विधान सभा की सीटें

बस्तर जिले में 7 विधान सभा सीट है, इस 7 विधान सभा क्षेत्रो के नाम इस प्रकार से है, 1. नारायणपुर (एसटी) 2. बस्तर (एसटी) 3. जगदलपुर 4. चित्रकोट (एसटी) 5. केशकल (एसटी) और दो नयी बनी हुयी है, इन 7 विधान सभा सीटों में 5 विधान सभा सीट अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित है परन्तु कोई भी अनुसूचित जाति के लिए आरक्षितं नहीं है।

बस्तर जिले में कितने गांव है

बस्तर जिले 606 गांव है, जो की जिले की इन तहसीलों के अंदर आते है जगदलपुर, बस्तर, बस्तानार, बकावंद, दरभा, टोकपाल, लोहंडीगुडा

बस्तर का इतिहास

बस्तर का इतिहास बस्तर रियासत से जुड़ा हुआ है, बस्तर अंग्रेजो के समय की एक रियासत हुआ करती थी, आगे चल कर दंतेवाड़ा जिला भी इसी रियासत से अलग हुआ था।

बस्तर के इतिहास में इतिहासकारो का मत है की १४वी शताब्दी में वारंगल के काकतिया साम्राज्य के राजा प्रताप रूद्र के भाई अन्नमा देवा ने बस्तर की स्थापना की थी.

भारत की स्वतंत्रता के बाद बस्तर ने अपना भारत में विलय करबा लिया और यह तत्कालीन मध्य प्रदेश राज्य का अंग बना, बस्तर जिला पारम्परिक दशहरा उत्सव के लिए प्रसिद्द है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *