बनासकांठा जिला गुजरात

बनासकांठा जिला गुजरात के जिलों में एक जिला है, बनासकांठा जिला, यह उत्तरी गुजरात क्षेत्र के अंतर्गत आता है और इसका मुख्यालय पालनपुर है, जिले में कुछ वित्त विभाग है 14 तालुका है, कुछ नगरपालिकाएं है और 9 विधान सभा क्षेत्र जो की बनासकांठा संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आती है, 1270 ग्राम है और 877 ग्राम पंचायते भी है ।

बनासकांठा जिला

बनासकांठा जिले का क्षेत्रफल १२,703 वर्ग किलोमीटर है, और २०११ की जनगणना के अनुसार बनासकांठा की जनसँख्या 2,504,244 लाख और जनसँख्या घनत्व 233/km2 व्यक्ति [प्रति वर्ग किलोमीटर] है, बनासकांठा की साक्षरता 66.39% है, महिला पुरुष अनुपात यहाँ पर 936 महिलाये प्रति १००० पुरुषो पर है, जिले की जनसँख्या विकासदर २००१ से २०११ के बीच 24.43% रहा है, इसका कुछ भाग राजस्थान की सीमाओं से मिलता है।

बनासकांठा जिला भारत में कहाँ पर है

बनासकांठा जिला भारत के राज्यो में एकदम पश्चिम में स्थित गुजरात राज्य में है, बनासकांठा जिला गुजरात के उत्तरी भाग की तरफ है, इसका उत्तर और उत्तर पूर्व का कुछ भाग राजस्थान की सीमाओं से मिलता है, बनासकांठा 24°17′ उत्तर 72°43′ पूर्व के बीच स्थित है, बनासकांठा की समुद्रतल से ऊंचाई 209 मीटर है, बनासकांठा गांधीनगर से 131 किलोमीटर उत्तर पश्चिम की तरफ अहमदबाद पालनपुर उच्च मार्ग पर है और भारत की राजधानी दिल्ली से 803 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम की तरफ राष्ट्रिय राजमार्ग 48 एवं बेआवार पिंडवारा मार्ग पर है।

बनासकांठा जिले के पडोसी जिले

बनासकांठा के उत्तर और उत्तर पूर्व में राजस्थान के जिले है जो की जालोर जिला और सिरोही जिला है, और फिर गुजरात के जिले है जो की साबरकांठा जिला पूर्व में है इसके बाद दक्षिण पूर्व में महेसाणा जिला है, दक्षिण में पाटण जिला है और पश्चिम में कच्छ जिला है ।

Information about Banaskantha in Hindi

नाम बनासकांठा
मुख्यालय पालनपुर
प्रशासनिक प्रभाग NIA
राज्य  
क्षेत्रफल 12,703 किमी 2 (4,905 वर्ग मील)
जनसंख्या (2011) 2,504,244
पुरुष महिला अनुपात 936
विकास 24.43%
साक्षरता दर 66.39%
जनसंख्या घनत्व 233 / किमी 2 (600 / वर्ग मील)
ऊंचाई 209 मीटर (686 फीट)
अक्षांश और देशांतर 24°17′ उत्तर 72°43′ पूर्व
एसटीडी कोड +91-02742′
पिन कोड 385 001
प्राथमिक विद्यालय 2227
माध्यमिक विद्यालय 338
“उच्चतर माध्यमिक विद्यालय
97
तहसील/मंडल 14
उच्च कॉलेज 27
गांवों की संख्या 1270
रेलवे स्टेशन पालनपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन
4 nn हाँ
एयर पोर्ट डीसा हवाई अड्डा, डीसा, बनसकांथा
नदी (ओं) सरस्वती, लूनी, बनास नदी
उच्च मार्ग एनएच 48
आधिकारिक वेबसाइट https://banaskanthadp.gujarat.gov.in
संसद सदस्यों की संख्या 1
विधायकों की संख्या 10
आरटीओ कोड GJ-8

बनासकांठा जिले का नक्शा मानचित्र मैप


गूगल मैप द्वारा निर्मित बनासकांठा का मानचित्र, इस नक़्शे में बनासकांठा के महत्वपूर्ण स्थानों को दिखाया है

बनासकांठा जिले में कितनी तहसील ब्लॉक और उपमंडल है

बनासकांठा जिले में प्रशासनिक विभाजन तालुके मे किया जाता है जो की जिले में 14 है अमीरगढ़, भाभर, दांतीवाड़ा, दंता, दीसा, देवदार, धनेरा, पालनपुर, सिहोरी (कंकरेज), थारद, वडगाम, लाखणी, सुइगाम और वाव जिले में कुछ नमागरपालिकाये भी है, तहसीलों के बारे में कोई जानकारी प्राप्त नहीं है, अगर आपको है तो कृपया बताये हम अपडेट कर देंगे

बनासकांठा जिले में विधान सभा और लोकसभा की सीटें

बनासकांठा जिले में 9 विधानसभा क्षेत्र है वाव, थराद, धानेरा, दंता, पालनपुर, डीसा, देवदार, वडगाम, कांकरेज और भाभर और 1 संसदीय क्षेत्र है जो की बनासकांठा ही है .

बनासकांठा जिले में कितने गांव है

बनासकांठा जिले में 877 ग्राम पंचायतों के अंदर आने वाले 1270 गांव है,

बनासकांठा जिले का इतिहास

बनासकांठा जिले का इतिहास ज्यादा पुराना नहीं है क्योंकि यह जिले के रूप में १९वी शताब्दी में आया है इसके पहले इस भूभाग को कई अन्य नाम से जाना जाता रहा है, अर्थात १३वी शताब्दी में इस चंद्रावती राज्य के अंतर्गत माना जाता था जो की परमार साम्राज्य का अंग थी इसके बाद झालोरी साम्राज्य के पश्तून लोहानी जो की झालोर के शासक थे, उन्होंने १४वी शताब्दी में या भूभाग विजिट किये और पश्तून से ही मिलता जुलता नाम पालनपुर रख दिया, बाद में इस भूभाग के लिए मुगलो और मराठो में भी युद्ध हुए, लाहोरी से भी युद्ध हुआ, बाद में यह भूभाग पालनपुर रियासत के रूप में मराठो के पास चली गयी, और उनके पास से अंग्रेजो के साथ चला गया।

जब देश स्वतंत्र हुआ तो यह पालनपुर जो की अंग्रेजो के दवरा सुरक्षित और रणरक्षित था अब भारतीय गणराज्य में मिलगया और तत्कालीन बॉम्बे राज्य का अंग बन गया, लेकिन जब गुजरात रही का गठन हुआ तो बनास नदी के किनारे बसे एक बड़े भूभाग को बनासकांठा जिला बना दिया गया और पालनपुर को उस जिले का मुख्यालय बना दिया गया।

*NIA = No Information Available


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *