देहरादून उत्तराखंड

देहरादून जिला उत्तराखण्ड के गढ़वाल मण्डल का एक जिला है, देहरादून जिले का मुख्यालय देहरादून नगर है और यही उत्तराखडं की राजधानी भी है, देहरादून जिले में १ लोक सभा सीट है और ९ विधान सभा, जिले में ६ तहसीलें है।

देहरादून जिले का क्षेत्रफल ३०८८ वर्ग किलोमीटर है और २०११ की जनगणना के अनुसार देहरादून की जनसँख्या १६९८५६० और जनसँख्या घनत्व ५५० व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है, देहरादून जिले की साक्षरता ८५% और महिला पुरुष अनुपात ९०२ महिलाये प्रति १००० पुरुषो पर है, २००१ से २०११ के बीच जनसँख्या विकास दर ३२.४८% रही है।

देहरादून जिला भारत में कहाँ पर है

देहरादून जिला उत्तराखंड के पश्चिमी भाग में है, इसके अक्षांस और देशांतर क्रमशः ३० डिग्री ३३ मिनट उत्तर से ७८ डिग्री ६ मिनट पूर्व तक है, देहरादून की समुद्रतल से ऊंचाई ४३५ मीटर है और देहरादून देश की राजधानी दिल्ली से २४५ किलोमीटर उत्तर की तरफ है।

देहरादून जिले के पडोसी जिले

देहरादून जिले के अपडोसी जिले इस प्रकार से है देहरादून के उत्तर में आधा शिमला और आधा उत्तरकाशी है, पूर्व तहश्री गढ़वाल है, दक्षिण पूर्व में टेहरी गढ़वाल जिला है, दक्षिण में हरिद्वार जिला है, दखिन पश्चिम में सहारनपुर जिला है और पश्चिम में सिरमौर जिला है जो की हिमाचल प्रदेश का है।

Information about Dehradun in Hindi

नाम देहरादून
राज्य उत्तराखंड
क्षेत्र 1,781 किमी²
देहरादून की जनसंख्या 35,000
अक्षांश और देशांतर 29.3361 डिग्री नं, 80.0 9 10 डिग्री ई
देहरादून का एसटीडी कोड 5965
देहरादून की पिन कोड 262523
जिला मजिस्ट्रेट (डीएम कलेक्टर) श्री गोपाल कृष्ण द्विवेदी
पुलिस अधीक्षक (एसपी / एसएसपी) सुश्री रिधिम अग्रवाल (एसपी)
मुख्य विकास अधिकारी जे.के. तिवारी,
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ एसपी अग्रवाल
संसद के सदस्य श्री हेमेश खारकवाल
विधायक हिमेश खारकवाल
उपखंडों की संख्या ना
तहसील की संख्या 4
गांवों की संख्या 721
रेलवे स्टेशन निकटतम – तानाकपुर रेलवे स्टेशन
बस स्टेशन बस स्टेशन देहरादून
देहरादून में एयर पोर्ट पंत नगर हवाई अड्डा
देहरादून में होटल की संख्या 10
डिग्री कॉलेजों की संख्या 2
अंतर कॉलेजों की संख्या 1
मेडिकल कॉलेजों की संख्या 3
इंजीनियरिंग कॉलेजों की संख्या 12
देहरादून में कंप्यूटर केंद्र 7
देहरादून में मॉल 16
देहरादून में अस्पतालों 3
देहरादून में शादी हॉल 1
नदी (ओं) शारदा नदी
उच्च मार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग 125
ऊंचाई 1,610 मीटर (5,280 फीट)
घनत्व 126 / किमी 2 (330 / वर्ग मील)
आधिकारिक वेबसाइट Http://Dehradun.nic.in/
साक्षरता दर 73%
बैंक बैंक ऑफ बड़ौदा, कोटक महिंद्रा बैंक, यूको बैंक, स्टेट बैंक, कॉरपोरेशन बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, यस बैंक, आंध्र बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, ओरिएंटल बैंक, इलाहाबाद बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक
प्रसिद्ध नेता (ओं) कालू सिंह महारा
राजनीतिक दलों कांग्रेस, भाजपा, बसपा
आरटीओ कोड UA-03
आधार कार्ड केंद्र ना
स्थानीय परिवहन गाड़ियों, बस, कार और उड़ान
मीडिया समाचार पत्र, ग्रामीण / शहरी होने के रेडियो, ट्रांजिस्टर, मीडिया, टेलीविजन
विकास 15.4 9%
यात्रा स्थलों मायावती आश्रम, अद्वैत आश्रम, बनसुर का किला, बारही मंदिर, चौमू मंदिर, आदित्य मंदिर, बालेश्वर मंदिर, नागनाथ मंदिर, क्रांतिेश्वर महादेव मंदिर
आयुक्त श्री गोपाल कृष्णन

देहरादून का नक्शा मानचित्र मैप

गूगल मैप द्वारा निर्मित देहरादून का मानचित्र, इस नक़्शे में देहरादून के महत्वपूर्ण स्थानों को दिखाया गया है

देहरादून जिले में कितनी तहसील है

देहरादून जिले में ४ तहसीलें है जिनके नाम इस प्रकार से है 1. चकराता 2. कालसी 3. त्यूणी और 4. विकासनगर , इन चारो तहसीलों में कालसी तहसील सबसे बड़ी है और त्यूणी तहसील सबसे छोटी तहसील है

देहरादून जिले में विधान सभा की सीटें

देहरादून जिले में 9 विधान सभा सीट है, इन विधानसभा क्षेत्रो के नाम 1. विकासनगर 2. सहसपुर 3. धरमपुर 4. रायपुर 5. राजपुर रोड (SC) 6. देहरादून छावनी 7. मसूरी 8. डोईवाला ९. ऋषिकेश

देहरादून जिले में कितने गांव है

देहरादून जिले में 602 गांव है जो की जिले की ४ तहसीलों में विभाजित है जिनकी संख्या टहिलों के नाम के अनुसार इस प्रकार से है 1. चकराता में १०९ गांव है 2. कालसी तहसील में १६८ गांव है 3. त्यूणी तहसील में ८२ गांव है और 4. विकासनगर में १४३ गांव है

History of Dehradun in Hindi

देहरादून का इतिहास रामायण और महाभारत काल से सम्बद्ध है, इसी को दून घाटी भी कहते है, ऐसा माना जाता है की राम रावण युद्ध के बाद भगवान राम अपने भाई लक्ष्मण सहित यहाँ पर आये थे, कौरवो और पांडवो के गुरु द्रोणाचार्य का जन्म यही पर हुआ था।

देहरादून का नामकरण श्री राम राइ जो की सिख्खो के ७वे गुरु के सबसे बड़े पुत्र थे, उन्होंने यहाँ इस घाटी में १६७६ में अपना डेरा लगाया था इसलिए इसका नाम देहरादून पड़ गया।

लोग कहते है की औरंगजेब भी राम राइ से बहुत प्रभावित था और उसने गढ़वाल के राजा से कहा था इनकी हर सम्भव मदद करे, और उनके कहने पर ही दरबार साहिब गुरूद्वारे का निर्माण हुआ और यह कार्य १७०७ में पूर्ण हो गया।

देहरादून सबसे पहले महमूद गजनवी ने जीत, फिर १३६८ में तैमूर ने, १७५७ में रुहल सरदारो ने, १७८५ में गुलाम कदीर और १८९६ में पृथ्वी नारायण सिंह ने कई क्षेत्रो को मिलकर एक राज्य बनाया और उसकी राजधानी देहरादून बना दी।

सूऊली के संधि के बाद ये क्षेत्र अंगेजो के अधीन आ गया, आजादी के बाद यह उत्तर प्रदेश में आ गया, परन्तु २००० में जब उत्तराखण्ड का गठन हुआ तो यह उत्तराखण्ड का हिस्सा बन गया और प्रदेश की राजधानी भी बन गया।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *