बलांगीर जिला उड़ीसा

बलांगीर जो की उड़ीसा के जिलों में एक जिला है, इसका मुख्यालय बलांगीर है, जिले में तीन उपमंडल है चौदह कस्बे है, और पांच विधान सभा क्षेत्र है, और 1 लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है।

बलांगीर जिला

बलांगीर जिले का क्षेत्रफल 6,575 किमी 2 (2,539 वर्ग मील) है और २०११ की दशवार्षिक जनगणना के अनुसार बलांगीर जिले की जनसँख्या लगभग 1,648,574 है और जनसँख्या घनत्व लगभग 251 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है, बलांगीर की साक्षरता 65.96% है, महिला पुरुष अनुपात यहाँ पर 983 है, जिले की जनसँख्या विकासदर २००१ से २०११ के बीच 11.55% रही है।

बलांगीर जिला भारत में कहाँ पर है

बलांगीर भारत के राज्यो में पूर्व में स्थित उड़ीसा राज्य में है, बलांगीर उड़ीसा के पश्चिमी भाग में अंदर की तरफ स्थित है, बलांगीर की समुद्रतल से ऊंचाई 115 मीटर है और इसके अक्षांश और देशांतर 20.7° N, 83.5° E, और बलांगीर उड़ीसा की राजधानी भुबनेश्वर जो की खोरधा जिले के अंतर्गत आता से लगभग 324 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम की तरफ राष्ट्रिय राज मार्ग 55 और ५७ पर स्थित है, और भारत की राजधानी दिल्ली से 1503 किलोमीटर दक्षिण पूर्व की तरफ 44 मार्ग पर है।

बलांगीर जिले के पडोसी जिले

बलांगीर जिले के उत्तर में बारगढ़ जिला है, उत्तर पूर्व से दक्षिण पूर्व में क्रमशः सोनपुर जिला है, बौद्ध जिला और कंधमाल जिला है और दक्षिण में कालाहांडी जिला है और पश्चिम में नुआपाड़ा जिला है।

Information about Balangir in Hindi

नाम बलांगीर
मुख्यालय बलांगीर
राज्य ओडिशा
क्षेत्रफल 6,575 किमी 2 (2,539 वर्ग मील)
जनसंख्या (2011) 1,648,574
पुरुष महिला अनुपात 983
विकास 11.55%
साक्षरता दर 65.96%
जनसंख्या घनत्व 251 / किमी 2 (650 / वर्ग मील)
भाषाएँ उड़िया, अंग्रेजी
ऊंचाई 115 मीटर (377 फुट)
अक्षांश और देशांतर 20.7° N, 83.5° E
एसटीडी कोड (+91)06652
पिन कोड 767001
उप मंडल 3
ब्लॉक 14
तहसील 14
लोकसभा क्षेत्र 1
विधानसभा क्षेत्र 5
रेलवे स्टेशन बलांगीर रेलवे स्टेशन
एयर पोर्ट रायपुर हवाई अड्डा (आरपीआर), रायपुर, छत्तीसगढ़
नदी (ओं) तेल नदी, ओंग नदी
उच्च मार्ग एनएच -55, एनएच – 44, एनएच – 57
दिल्ली से दूरी 1503 km
भुवनेश्वर से दूरी 324 km
आधिकारिक वेबसाइट http://www.ordistricts.nic.in/district_home.php?did=bol
आरटीओ कोड OR-03/ OD-03

बलांगीर जिले का नक्शा मानचित्र मैप

बलांगीर जिले में कितनी तहसील ब्लॉक और उपमंडल है

बलांगीर जिले में बलांगीर जिले में 3 उप मंडल है जिनके नाम बलांगीर, पटनागढ़ और टिटलागढ़ है और १४ ब्लॉक है इनके नाम आगलपुर, बलांगीर, बेलपाड़ा, बोंगमूंडा, देवगांव, गुडवेला, खापरखोल, लोजिसा, मुरीबाहल, पाटणगर, पुन्तला, सैंतला, टिटलागढ़ और तुरीकिला है और चौदह ही तहसीलें है जिनके नाम आगलपुर, बलांगीर, बंगामुंडा, बेलपाड़ा, देवगांव, कंटानाबजी, खापराखोल, लोजिसा, मोरिबाहल, पाटणगर, पुन्तला, सैंतला, टिटलागढ़ और तुसुर है ।

बलांगीर जिले में विधान सभा और लोकसभा की सीटें

बलांगीर जिले में पांच विधानसभा क्षेत्र है, इन क्षेत्रो के नाम लोइसिंघा, पाटनगढ़, बलांगीर, टिटलागढ़, कांटाबांजी है और 1 लोक सभा सभा क्षेत्र है जिसका नाम बलांगीर है।

बलांगीर जिले का इतिहास

बलांगीर जिले का इतिहास बहुत प्राचीन है, यह पहले एक नगर था जो की १८८० से पटना रियासत की राजधानी थी, जब यहाँ के समस्त भूभाग को मिलकर जिले का निर्माण किया गया तो इस नगर की उपदेयता देखते हुए नए जिले न नाम ही बलांगीर रखा गया था।
१९वी शताब्दी में पटना रियासत के राजा बलराम देव ने इस नगर की स्थापना की थी और उस समय इस नगर का नाम बलरामगढ़ था जो की बाद में पटना राज्य की राजधानी बना दी गयी और इसका नाम भी बदलकर बलांगीर कर दिया गया था।
पद्मपुराण के अनुसार यहाँ पर भगवन राम के छोटे पुत्र महाराज कुश ने राज किया था और इसका नाम कुशस्थलीपुरा हुआ करता था कालांतर में इसका नाम बदल गया लेकिन अब भी कथाओ में यही नाम प्रचलित है।

Comments are closed.