अंगुल जिला उड़ीसा

अंगुल जो की उड़ीसा के जिलों में एक जिला है, इसका मुख्यालय अंगुल है, जिले में चार उपमंडल है आठ कस्बे है, और पांच विधान सभा क्षेत्र है, और 1 लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है।

अंगुल जिला

अंगुल जिले का क्षेत्रफल 6,232 किमी 2 (2,406 वर्ग मील) है और २०११ की दशवार्षिक जनगणना के अनुसार अंगुल जिले की जनसँख्या लगभग 1,271,703 है और जनसँख्या घनत्व लगभग 199 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है, अंगुल की साक्षरता 78.96% है, महिला पुरुष अनुपात यहाँ पर 943 है, जिले की जनसँख्या विकासदर २००१ से २०११ के बीच 11.55% रही है।

अंगुल जिला भारत में कहाँ पर है

अंगुल भारत के राज्यो में उत्तर पूर्व में स्थित उड़ीसा राज्य में है, अंगुल उड़ीसा के मध्य भाग में स्थित है, अंगुल की समुद्रतल से ऊंचाई 875 मीटर है और इसके अक्षांश और देशांतर 20.83° N, 85.1° E, और अंगुल उड़ीसा की राजधानी भुबनेश्वर जो की खोरधा जिले के अंतर्गत आता से लगभग 128 किलोमीटर उत्तर की तरफ राष्ट्रिय राज मार्ग 55 पर उत्तर पश्चिम की तरफ है, और भारत की राजधानी दिल्ली से 1598 किलोमीटर उत्तर पूर्व की तरफ 19 मार्ग पर है।

अंगुल जिले के पडोसी जिले

अंगुल जिले के उत्तर में देओगढ़ जिला और सुन्दरगढ जिला है, उत्तर पूर्व में केंदूझार जिला है और पूर्व में धेनकनाल जिला है, दक्षिण कटक जिला, नयागढ़ जिला और बौध जिला है और पश्चिम में सम्बलपुर जिला और सोनपुर जिला है।

Information about Angul in Hindi

नाम अंगुल
मुख्यालय अंगुल
राज्य ओडिशा
क्षेत्रफल 6,232 किमी 2 (2,406 वर्ग मील)
जनसंख्या (2011) 1,271,703
पुरुष महिला अनुपात 942
विकास 11.55%
साक्षरता दर 78.96%
जनसंख्या घनत्व 199 / किमी 2 (520 / वर्ग मील)
भाषाएँ उड़िया
ऊंचाई 875.5 मीटर (2,872.4 फुट)
अक्षांश और देशांतर 20.83° N, 85.1° E
एसटीडी कोड (+91)06764
पिन कोड 759100-759xxx
उप मंडल 4
ब्लॉक 8
तहसील 8
लोकसभा क्षेत्र 2
विधानसभा क्षेत्र 5
रेलवे स्टेशन अंगुल
एयर पोर्ट भुवनेश्वर हवाई अड्डा
नदी (ओं) महानदी और ब्राह्मणी नदियां
उच्च मार्ग एनएच -55, एएच -19
दिल्ली से दूरी 1598 km
भुवनेश्वर से दूरी 128 km
आधिकारिक वेबसाइट http://www.ordistricts.nic.in/district_home.php?did=an
आरटीओ कोड अंगुल ओडी -19, तलचर ओडी -35

अंगुल जिले का नक्शा मानचित्र मैप

अंगुल जिले में कितनी तहसील ब्लॉक और उपमंडल है

अंगुल जिले में अंगुल जिले में 4 उप मंडल है जिनके नाम अंगुल, अथमालिक, तालचेर, पल्लहड़ है और आठ ब्लॉक है इनके नाम अंगुल सदर, अथमलिक सदर, छेंदीपाड़ा, तालचर सदर, पल्लहदा सदर, बनारपाल, किशोरनगर, कनिहा है और आठ ही तहसीलें है जिनके नाम अंगुल, अथमालिक, तालचेर, पल्लहड़, चेंडीपाड़ा, बनारपाल, किशोरनगर, कनिहा है ।

अंगुल जिले में विधान सभा और लोकसभा की सीटें

अंगुल जिले में पांच विधानसभा क्षेत्र है, इन क्षेत्रो के नाम पल्लहरे, तालचेर, अंगुल, छेंड़ीपड़ा, अथमालिक है और 2 लोक सभा सभा क्षेत्र है जिसका नाम ढेंकनाल (लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र) और संबलपुर (लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र) है।

अंगुल जिले का इतिहास

अंगुल जिले का इतिहास बहुत प्राचीन है, इसके अंश पूरा पाषाण काल और पाषाण काल से मिलते है, विद्वानों के अनुसार यहाँ पर ज्यादातर आदिवासी लोग ही रहा करते थे, इसके नामकरण का इतिहास भी अद्भुद एवं रोचक है, यहाँ के निवासिओं ने कई बार बड़े राजाओ की सहायता की वो भी युद्ध के समय, इन्होने स्वयं को छोटा अर्थात अनु मन और युद्ध का अर्थ होता है गोलमाला यहाँ की क्षेत्रीय भाषा में तो इन दोनों शब्दों को मिलकर जो स्थान विशेष का नाम बना वह अनु + गोल(माला) यानि की अंगुल बना दिया गया जो के कालांतर में प्रसिद्द भी हुआ और १८९६ में तत्कालीन सरकार ने इस नए नाम को मान्यता भी प्रदान कर दी थे।

Comments are closed.