करूर जिला तमिलनाडु

करूर जो की तमिलनाडु के जिलों में एक जिला है, इसका मुख्यालय करूर है, जिले में 2 प्रभाग है 6 मंडल है, और 4 विधान सभा क्षेत्र है, और 1 लोकसभा क्षेत्र है।

करूर जिला

करूर जिले का क्षेत्रफल 2,856 किमी 2 (1,103 वर्ग मील) है और २०११ की जनगणना के अनुसार करूर की जनसँख्या लगभग 1,076,588 है और जनसँख्या घनत्व 373 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है, करूर की साक्षरता 81.74% है, महिला पुरुष अनुपात यहाँ पर 1015 है, जिले की जनसँख्या विकासदर २००१ से २०११ के बीच 11.19% रही है।

करूर जिला भारत में कहाँ पर है

करूर भारत के राज्यो में दक्षिण पूर्व से दक्षिण में स्थित तमिलनाडु राज्य में है, करूर तमिलनाडु के केंद्रीय भाग में स्थित है, करूरकी समुद्रतल से ऊंचाई 122 मीटर है और इसके अक्षांश और देशांतर 10.57° N, 78.4° E, और करूर तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई जिले से लगभग 704 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम की तरफ राजमार्ग 38 पर है, और भारत की राजधानी दिल्ली से 2838 किलोमीटर दक्षिण पूर्व की तरफ राजमार्ग ४४ पर है।

करूर जिले के पडोसी जिले

करूर जिले के उत्तर में नमक्कल जिला है, पूर्व में तिरुचचिल्लाप्पली जिला है, दक्षिण में डिंडीगुल जिला है, पश्चिम में तिरुपुर जिला है और उत्तर पश्चिम में इरोड जिला है ।

Information about Karur in Hindi

नाम करूर
मुख्यालय करूर
राज्य तमिलनाडु
क्षेत्रफल 2,856 किमी 2 (1,103 वर्ग मील)
जनसंख्या (2011) 1,076,588
पुरुष महिला अनुपात 1015
विकास 11.19%
साक्षरता दर 81.74%
जनसंख्या घनत्व 373 / किमी 2 (970 / वर्ग मील)
ऊंचाई 122 मीटर (400 फीट)
अक्षांश और देशांतर 10.57° N, 78.4° E
एसटीडी कोड +91 (0) 4324, +91 (0) 4323, करूर, कुलिथलाय और अरवक्कुरिची सर्किलों के लिए +91 (0) 4320
पिन कोड 639xxx, 621xxx, 638xxx.
प्रभाग 2
तालुका 6
लोकसभा क्षेत्र 1
विधानसभा क्षेत्र 4
रेलवे स्टेशन करूर जंक्शन रेलवे स्टेशन
एयर पोर्ट तिरुचिरापल्ली हवाईअड्डा (85 किमी), कोयम्बटूर हवाई अड्डे (130 किमी) और मदुरै हवाई अड्डे (135 किमी)
नदी (ओं) कावेरी और अमरावती नदियां
उच्च मार्ग एनएच 44, एनएच 48
आधिकारिक वेबसाइट http://karur.tn.nic.in
आरटीओ कोड TN-47

करूर जिले का नक्शा मानचित्र मैप

करूर जिले में कितनी तहसील ब्लॉक और उपमंडल है

करूर जिले में करूर जिले में 2 उपमंडल या प्रभाग है और 6 तालुका है, जिनके नाम इस प्रकार से है, प्रभागों के नाम करूर, कलिताई है और तालुको के नाम अरावकुरिची, करूर, मानमंगलम, कुलिथलाई, कृष्णरायपुरा, कंधुरम है।

करूर जिले में विधान सभा और लोकसभा की सीटें

करूर जिले में चार विधानसभा क्षेत्र है जिनके नाम अरावकुरिची, करूर, कृष्णरायपुरम (एससी), कुलिथलाई है और 1 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र है जो की करूर ही है।

करूर जिले का इतिहास

करूर जिले का इतिहास वास्तव में बहुत ही भव्य रहा है, संगम काल के समय यह एक एक प्रमुख व्यापारिक केंद्र था और इसके बाद इस भूभाग पर चेर, गंगा, और चोल राजाओ ने राज किया, मुख्यतया करूर चेर राजाओ के समय में राजधानी बना लेकिन मुख्य रूप से करूर राज्य को चोल राजाओ ने बसाया था, इसके बाद यहाँ पर नायको और उसके बाद १७८३ में टीपू सुल्तान का अधिपत्य हो गया, एंग्लो मैसूर युद्ध के बहुत से साक्ष्यों को यहाँ पर संगृहीत किया गया है।

Comments are closed.