दुमका झारखंड

दुमका जिला झारखंड के जिलों में एक जिला है, दुमका जिला, संथाल परगना मंडल के अंतर्गत आता है और इसका मुख्यालय दुमका में है, जिले में 2 उपमंडल है, 10 उप खंड और 4 विधान सभा क्षेत्र जो की दुमका लोकसभा क्षेत्र में आता है, 2688 ग्राम है और 396 ग्राम पंचायते है।

दुमका जिला

दुमका जिले का क्षेत्रफल 4,404 वर्ग किलोमीटर है, और २०११ की जनगणना के अनुसार दुमका की जनसँख्या 1,321,096 और जनसँख्या घनत्व 300/km2 व्यक्ति [प्रति वर्ग किलोमीटर] है, दुमका की साक्षरता 62.54 % है, महिला पुरुष अनुपात यहाँ पर 974 महिलाये प्रति १००० पुरुषो पर है, जिले की जनसँख्या विकासदर २००१ से २०११ के बीच 19.39 % रहा है।

दुमका भारत में कहाँ पर है

दुमका जिला भारत के राज्यो में पूर्व की तरफ की अंदर की तरफ स्थित झारखंड राज्य में है, दुमका जिला झारखंड के दक्षिण पूर्वी का भाग का जिला है इसीलिए इसके उत्तर पश्चिम में बिहार राज्य है, और दक्षिण पूर्व में पश्चिम बंगाल राज्य और दुमका 24.27 डिग्री उत्तर से 87.25 डिग्री पूर्व के बीच स्थित है, दुमका की समुद्रतल से ऊंचाई 137 मीटर है, दुमका रांची से 313 किलोमीटर उत्तर पश्चिम की तरफ है और देश की राजधानी दिल्ली से 1372 किलोमीटर दक्षिण पूर्व की तरफ ही है।

दुमका के पडोसी जिले

दुमका के उत्तर में गोड्डा जिला है, पश्चिमोत्तर में बिहार के जिले है जो की बांका जिला है, पश्चिम में देवघर जिला है, दक्षिण में जामतारा जिला है, दक्षिण पूर्व में पश्चिम बंगाल के जिले है जो की बीरभूमि जिला है, पूर्व में पाकुर जिला है ।

Information about Dumka in Hindi

नाम दुमका
मुख्यालय दुमका
प्रशासनिक प्रभाग संथाल परगना मंडल
राज्य झारखंड
क्षेत्रफल 4,404 km2 (1,700 वर्ग मील)
जनसंख्या (2011) 1,321,096
पुरुष महिला अनुपात 974
विकास 19.39%
साक्षरता दर 62.54%
जनसंख्या घनत्व 300 / km2 (780 / वर्ग मील)
ऊंचाई 137 मी (449 फुट)
अक्षांश और देशांतर 24.27 डिग्री उत्तर से 87.25 डिग्री पूर्व
एसटीडी कोड 06434′
पिन कोड 814101
संसद के सदस्य 1
विधायक 4
उप मंडल की संख्या 2
खंडों की संख्या 10
गांवों की संख्या 2688
रेलवे स्टेशन दुमका रेलवे स्टेशन
बस स्टेशन हाँ
एयर पोर्ट रांची हवाई अड्डा, (216 किमी)
डिग्री कॉलेजों की संख्या 11
अंतर कॉलेजों की संख्या 75
प्राथमिक विद्यालय (पूर्व-प्राथमिक को शामिल करना) 1045
मध्य विद्यालय 254
अस्पताल 7
नदी (ओं) मयूराक्षी नदी
उच्च मार्ग NH-320, NH-19
आधिकारिक वेबसाइट dumka.nic.in
बैंक 11
प्रसिद्ध नेता (ओं) NA
आरटीओ कोड JH 04
स्थानीय परिवहन बस, टैक्सी आदि

दुमका का नक्शा मानचित्र मैप

गूगल मैप द्वारा निर्मित दुमका का मानचित्र, इस नक़्शे में दुमका के महत्वपूर्ण स्थानों को दिखाया दुमका है

दुमका जिले में कितनी तहसील है

दुमका जिले में प्रशासनिक विभाजन तहसील के बजाये 10 ब्लॉक में किया गया है, इसका मुख्य अधिकारी भी ब्लॉक विकास अधिकारी होता है, इन ब्लॉक का नाम सरैयाहाट, जरमुंडी, रामगढ, गोपीकांदर, काठीकुंड, शिकारीपारा, रानीश्वर, दुमका, जमा और मसलिए है।

दुमका जिले में विधान सभा और लोकसभा की सीटें

दुमका जिले में 4 विधान सभा क्षेत्र है, जिनके नाम सीकरिपारा, दुमका, जामा और जार्मुंडी जो की दुमका लोक सभा क्षेत्र के अंतर्गत आती हैं।

दुमका जिले में कितने गांव है

दुमका जिले में 2688 गांव है 396 ग्राम पंचायतों के माध्यम से संचालित किये जाते, ग्राम पंचायतो के ऊपर खंड होती है, जो की जिले में 19 है।

दुमका का इतिहास

दुमका का इतिहास पाषाण काल के समय से जुड़ा हुआ मन जाता है, कुछ इतिहासकारो ने ऐतिहसिल श्रोतो से इस प्रकार के साक्ष्यों को पाया, यहाँ पर ग्रीक यात्री मेगस्थनीज आया था और १५३९ में शेरशाह शुरी ने इसको चौसा के युद्ध में जित लिया जिसे अकबर के समय फिर से हथिया लिया गया था।
बाकि कुछ प्रमुख ऐतिहासिक घटनाओ का का वर्णन निचे सारणी में दिया गया है

1745 राघोजी भोसले, सांमल परगना के पहाड़ियों और जंगलों के माध्यम से राजमहल में प्रवेश कर रहे थे। अंग्रेजों के शुरुआती प्रवास में पहाड़ियों को सताया गया था।
1769  बेंगलूर के बीरभूम जिले के तहत दुमका घाटवाली पुलिस पद पर बने रहे।
1775  दुमका को भागलपुर डिवीजन में स्थानांतरित कर दिया गया था।
1865  भागलपुर से बाहर होने के बाद दुमका को स्वतंत्र जिला बनाया गया।
1872  दुमका को सांसल परगना के पूरे जिले का मुख्यालय बनाया गया था।
1889 पॉल ओलाफ बोदिंग ने लार्स ऑलसेन स्केफ्रुरुद के बाद भारत में (दमका / बेनागारिया) अपनी सेवा शुरू की, और बोधिंग ने सांथल के लिए पहला वर्णमाला बनाया। NELC- चर्च इस क्षेत्र में एक लूथरन चर्च के रूप में बनाया गया था – इससे पहले कैथोलिक ने इस क्षेत्र में एक मिशन बिल्कुल स्थापित किया था।
1902  पहली नगरपालिका स्थापित की गई थी
1920 मोटर कारों और बसों को पेश किया गया
1952  मालदा का अपोस्टोलिक प्रीफेक्चर बनाया गया था। 1962 में, इसे दमका के रोमन कैथोलिक सूबा के लिए प्रोत्साहित किया गया था
1983  दुमका को संथाल परगना का डिवीजनल मुख्यालय बनाया गया था।
2000  दुमका झारखंड की उप-राजधानी बन गईं।
2011  दुमका नव निर्मित जसीडिह – दुमका रेलवे लाइन से जुड़ा हुआ है।
2012  रांची को इंटरसिटी एक्सप्रेस जसीडिह के माध्यम से शुरू हुआ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *