कासरगोड जिला केरल

कासरगोड जो की केरल के जिलों में एक जिला है, इसका मुख्यालय कासरगोड है, जिले में 4 तालुका है 7 विकास खंड है, और 5 विधान सभा क्षेत्र है, और 1 लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है।

कासरगोड जिला

कासरगोड जिले का क्षेत्रफल 1,992 किमी 2 (769 वर्ग मील) है और २०११ की दशवार्षिक जनगणना के अनुसार कासरगोड जिले की जनसँख्या लगभग 1,307,375 है और जनसँख्या घनत्व लगभग 654 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है, कासरगोड की साक्षरता 89.85% है, महिला पुरुष अनुपात यहाँ पर 1079 है, जिले की जनसँख्या विकासदर २००१ से २०११ के बीच 8.18% रही है।

कासरगोड जिला भारत में कहाँ पर है

कासरगोड भारत के राज्यो में दक्षिण पश्चिम से दक्षिण में स्थित केरल राज्य में है, कासरगोड केरल के उत्तरी भाग में स्थित है इसी कारण इसकी पश्चिमी सीमाएं समुद्र को स्पर्श करती है और पूर्वी सीमाएं कर्णाटक के जिलों को स्पर्श करती है, कासरगोड की समुद्रतल से ऊंचाई 19 मीटर है और इसके अक्षांश और देशांतर 12.5° N, 75.00° E, और कासरगोड केरल की राजधानी थिरुवनंथपुरम जिले से लगभग 567 किलोमीटर उत्तर पश्चिम की तरफ राष्ट्रिय राज मार्ग ६६ और थ्रिस्सूर- कुत्तिप्पुरम मार्ग पर है, और भारत की राजधानी दिल्ली से 2366 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम की तरफ राजमार्ग 44 पर है।

कासरगोड जिले के पडोसी जिले

कासरगोड जिले के दक्षिण में कन्नूर जिला है, उत्तर पूर्व में कर्नाटक का दक्षिण कन्नड़ जिला है और कोडागु जिला है।

Information about Kasaragod in Hindi

नाम कासरगोड
मुख्यालय कासरगोड
राज्य केरल
क्षेत्रफल 1,992 किमी 2 (769 वर्ग मील)
जनसंख्या (2011) 1,307,375
पुरुष महिला अनुपात 1079
विकास 8.18%
साक्षरता दर 89.85%
जनसंख्या घनत्व 654 / किमी 2 (1690 / वर्ग मील)
ऊंचाई 19 मी (62 फीट)
अक्षांश और देशांतर 12.5° N, 75.00° E
एसटीडी कोड +91 (0) 04994
पिन कोड “671121
तालुका 4
खंड 7
लोकसभा क्षेत्र 1
विधानसभा क्षेत्र 5
रेलवे स्टेशन कासरगोड रेलवे स्टेशन
एयर पोर्ट मंगलौर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा
नदी (ओं) चंद्रगिरी नदी
उच्च मार्ग एनएच 66, एनएच 48
दिल्ली से दूरी 2366 km
थिरुवनंतपुरम से दूरी 567 km
आधिकारिक वेबसाइट http://kasargod.nic.in
आरटीओ कोड KL-14 KL-60

कासरगोड जिले का नक्शा मानचित्र मैप

कासरगोड जिले में कितनी तहसील ब्लॉक और उपमंडल है

कासरगोड जिले में कासरगोड जिले में 4 तालुका है जिनको वित्त उपमंडल या वित्त प्रभाग इनके नाम कासारगोड और होसदुर्ग (कान्हांगद), वेल्लारीकुंडु और मंजेश्वरम है और 7 खंड है जिनका वास्तविक मतलब होता है वित्त विकास खंड है इन वित्त विकास खंडो के नाम कान्हंगाद, कासारगोड, निलेश्वर, उपला, कुंबला, चेरुवतुर और त्रिकारीपुर है ।

कासरगोड जिले में विधान सभा और लोकसभा की सीटें

कासरगोड जिले में 5 विधानसभा क्षेत्र है जहा पर विधायक या विधान सभा के सदस्य होते है, इन विधान सभा क्षेत्रो के नाम मान्जेश्वर, कासरगोड, उदमा, कन्हानगड़, त्रिक्कारपुर है, यहाँ पर एक लोक सभा क्षेत्र भी है जिसका नाम कासरगोड है।

कासरगोड जिले का इतिहास

कासरगोड जिले का इतिहास नौमी शताब्दी के आस पास शुरू होता जब बहुत से अरब के यात्री यहाँ पर आये और इस भूभाग हो उन्होंने हरक्वीलिए के नाम से सम्बोधित किया था क्युकी ये उस समय का प्रमुख व्यापारिक केंद्र था, इसके बाद सोलहवीं शताब्दी में में दुआर्ते बारबोसा यहाँ आया और उसने यहाँ पर देखा की यहाँ से चावल का निर्यात मालदीव को होता है, कासरगोड जिला कुम्बला राजवंश का भाग था जिनके पास ६४ तुलु और मलयालम ग्राम थे, इसके बाद विजयनगरम साम्राज्य ने यहाँ पर अधिपत्य कर लिया कोलत्तिरि राजा के अधीन बना रहा, इसके बाद १८०० में आर्थर वेलेस्ली का डॉक्टर यहाँ पर घूमने भी आया था जिसका नाम फ्रांसिस बुकानन था, इसे १७६३ में हैदरअली ने जीत लिया था और उसके बेटे टीपू ने मालाबार भी जीत लिया, १७९२ की श्रीरंगपट्टनम की संधि के अनुसार कनारा को छोड़कर पूरा मालाबार अंग्रेजो को देना पड़ा और २४ मई १९८४ को कासरगोड को जिले के रूप में मान्यता देदी गयी थी।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *