टोंक राजस्थान

टोंक जिला राजस्थान के जिलों में ११वा सर्वाधिक कम जनसँख्या बाला जिला है, टोंक अजमेर मण्डल का जिला है और इसका मुख्यालय टोंक नगर में ही है। इस जिले में ७ तहसीलें ११३६ गांव और ३ विधान सभा क्षेत्र है
टोंक जिले का क्षेत्रफल 7194 वर्ग किलोमीटर है, और २०११ की जनगणना के अनुसार टोंक की जनसँख्या १,४२१,७११ और जनसँख्या घनत्व १९८ व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है, टोंक की साक्षरता ६२.४६% है, महिला पुरुष अनुपात यहाँ पर ९४९ महिलाये प्रति १००० पुरुषो पर है, जिले की जनसँख्या विकासदर २००१ से २०११ के बीच १७.३३ % रहा है।

टोंक भारत में कहाँ पर है

टोंक जिला राजस्थान में है जो की भारत के राज्यो में पश्चिमी तरफ है है, टोंक जिला राजस्थान में थोड़ा सा दक्षिण पूर्वी जिला है परंतु इसकी सीमाएं किसी अन्य राज्य से नहीं मिलती है, टोंक के अक्षांस और देशांतर क्रमशः 75.1 9 ‘और 76.16 पूर्व देशांतर और 25.41’ और 26.24 ‘उत्तर अक्षांश तक है, टोंक की समुद्रतल से ऊंचाई २८९ मीटर है, टोंक जयपुर से १०४ किलोमीटर दक्षिण की तरफ है और देश की राजधानी दिल्ली से भी ३७० किलोमीटर दक्षिण की तरफ ही है।

टोंक के पडोसी जिलें

टोंक का उत्तरी किनारा जयपुर जिले जुड़ा है, पूर्वी किनारा सवाई माधोपुर से जुड़ा है, जबकि दक्षिण भाग बूंदी से जुड़ा हुआ है, दक्षिण पश्चिम भाग भीलवाड़ा जिले से जुड़ा हुआ है

Information about Tonk in Hindi

नाम टोंक
राज्य राजस्थान
क्षेत्र 7194 किमी 2
टोंक की जनसंख्या 1,421,711
अक्षांश और देशांतर 26.1624 डिग्री नं, 75.6208 डिग्री ई
टोंक का एसटीडी कोड 1435
पिन कोड टोंक 304001
जिला मजिस्ट्रेट (डीएम कलेक्टर) श्री डा। टी। टीना कुमार
पुलिस अधीक्षक (एसपी / एसएसपी) शशिकांत शुक्ला,
मुख्य विकास अधिकारी श। लोकेश गौतम
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ। जेपी सलोदिया
संसद के सदस्य सुखबीर सिंह
विधायक सुखबीर सिंह जनापुरीया,
उपखंडों की संख्या 7
तहसील की संख्या 7
गांवों की संख्या 10 9 3
रेलवे स्टेशन टोंक रेलवे स्टेशन
बस स्टेशन टोंक बस स्टेशन
टोंक में एयर पोर्ट जयपुर सांगर एयरपोर्ट
टोंक में होटल की संख्या 18
डिग्री कॉलेजों की संख्या 10
अंतर कॉलेजों की संख्या 17
मेडिकल कॉलेजों की संख्या 1
इंजीनियरिंग कॉलेजों की संख्या 9
टोंक में कंप्यूटर केंद्र 12
टैंक में मॉल 3
टोंक में अस्पताल 18
टोंक में विवाह हॉल 1 1
नदी (ओं) बनस नदी
उच्च मार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग 12,
ऊंचाई 28 9 मीटर (9 48 फीट)
घनत्व 1 9 8 9 प्रति व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर (510 / वर्ग मील)
आधिकारिक वेबसाइट Http://rajasthan.gov.in/ सरकार / डिस्ट्रिक्ट सरकारी / पेज / टैक। एस्पक्स
साक्षरता दर 62.46%
बैंक आईडीबीआई बैंक, एक्सिस बैंक, एसबीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक, बैंक ऑफ बैंको, एसबीबीजे बैंक, सहकारी बैंक, यूको बैंक, आईसीआईसीआई बैंक
प्रसिद्ध नेता (ओं)  
राजनीतिक दलों भाजपा, बसपा, सीपीआई, कांग्रेस
आरटीओ कोड आरजे -26
आधार कार्ड केंद्र 6
स्थानीय परिवहन टैक्सी, कार, बस, ट्रेन, हवाई अड्डे
मीडिया समाचार पत्र, ग्रामीण / शहरी होने के रेडियो, ट्रांजिस्टर, मीडिया, टेलीविजन
विकास 17.33%
यात्रा स्थलों टोंक जामा मस्जिद, अरबी फ़ारसी रिसर्च इंस्टीट्यूट, सनहरि कोठी, भगवान देवनारायण मंदिर जोधपुरीया, श्री दिगी कल्याण जिंदंद दिगी मालपुरा, मंदाकला, दोनिजामंदिर, जलदेविमंदिर, कल्पवृक्षशोफ़ बुलंद, जयंती मंदिर, बद्रीनाथम्प्ले, दादादाटीमपल
आयुक्त श्री जगत सिंह

टोंक का नक्शा मानचित्र मैप

गूगल मैप द्वारा निर्मित टोंक का मानचित्र, इस नक़्शे में टोंक के महत्वपूर्ण स्थानों को दिखाया गया है

टोंक जिले में कितनी तहसील है

टोंक जिले में ७ तहसीलें है, इन तहसीलो के नाम ये है 1. डॉली 2. मालपुरा 3. निवाई 4. पीपलू 5. टोडारायसिंह 6. टोंक और 7. उनियारा है. इन ७ तहसीलों में ग्रामो की संख्या के आधार पर निवाई तहसील सबसे बड़ी तहसील है एयर पीपलू तहसील सबसे छोटी तहसील है।

टोंक जिले में विधान सभा की सीटें

टोंक जिले में 3 विधान सभा सीटें है, इन 3 विधानसभा क्षेत्रो के नाम 1. निवाई (एससी) 2. टोंक 3. देवली, इन 3 विधान सभा क्षेत्रो में 1 विधानसभा सीट अनुसूचित जाती के लोगो के लिए आरक्छित है।

टोंक जिले में कितने गांव है

टोंक जिले में ११३६ गांव है, जो की जिले की ७ तहसीलो के अंदर है, इन ग्रामो की संख्या तहसील के नाम के साथ इस प्रकार से है 1. डॉली तहसील में १७१ गांव है, 2. मालपुरा में १५९ गांव है, 3. निवाई में २०५ गांव है, 4. पीपलू तहसील में १२४ गांव है, 5. टोडारायसिंह में १४४ गांव है, 6. टोंक तहसील में १२९ गांव है, 7. उनियारा में २०४ गांव है।

टोंक का इतिहास

टोंक भारतीय राज्य राजस्थान का एक जिला है। ये राष्ट्रीय राजमार्ग 10 पर जयपुर से 100 दूर है, जिले का मुख्यालय टोंक है। टोंक जिले के आसपास कई दर्शनीय स्थल हैं-1.दिग्गी कल्याण मन्दिर 2. अरबी फारसी शोध संस्थान 3.सुनहरी कोठी 4कल्पवृक्ष बालुन्दा 5.माण्डव ऋषि की तपोभूमि – इसे लघु-पुष्कर भी कहा जाता है। यह नगरदुर्ग के पास स्थित है। 6. श्री चामुण्डा देवी का मन्दिर नगर 7. जामा मस्जिद 8.बीसलपुर बांध.

यहाँ अभी भी रेल से यातायात की सुविधा नहीं है, 2005 में टोंक को भारत के अति पिछड़े जिलों में से सबसे ज्यादा पिछड़ा घोषित किया गया था, इस जिले की अधितम जानकारिया ऊपर सारणी में दी गयी है .


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *