मणिपुर

मणिपुर के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य

राज्य मणिपुर
राज्यपाल डॉ नजमा हेपतुल्ला
मुख्यमंत्री एन बिरन सिंह (भारतीय जनता पार्टी)
उप मुख्यमंत्री NA
आधिकारिक वेबसाइट http://manipur.gov.in/
स्थापना का दिन 21 जनवरी 1972
क्षेत्रफल 22,327 वर्ग किमी
घनत्व 130 प्रति वर्ग किमी
जनसंख्या (2011) 2,966,889
पुरुषों की जनसंख्या (2011) 1,491,832
महिलाओं की जनसंख्या (2011) 1,475,057
शहरी जनसंख्या % में (2011) 32.46%
जिले 16
राजधानी इम्फाल
उच्च न्यायलय मणिपुर उच्च न्यायालय
जनसँख्या में स्थान [भारत में ] 24th
क्षेत्रफल में स्थान [भारत में ] 24th
धर्म हिन्दू, मुस्लिम, क्रिश्चियन, सनमाहिस्म,बुद्धिज़्म, अन्य धर्म
नदियाँ बराक, इम्फाल और इरिल
वन एवं राष्ट्रीय उद्यान कैबुल राष्ट्रीय उद्यान, शिरुई राष्ट्रीय उद्यान
भाषाएँ मणिपुरी,ठाडो, तांगखुल, काबुई, पैटे, हमर, बंगाली, अन्य भाषाएँ
पड़ोसी राज्य असम, नागालैंड, मिजोरम
राजकीय पशु संगाई हिरन
राजकीय पक्षी नोनगये
राजकीय वृक्ष भारतीय महोगनी
राजकीय फूल सिरोय कुमुदिनी (लिली)
राजकीय नृत्य बगुरुम्बा एंड भोरताल डांस
राजकीय खेल मणिपुरी पोलो
नेट राज्य घरेलू उत्पाद (2013-2014) 14,000 करोड़ रुपया
साक्षरता दर (2011) 80.01%
1000 पुरुषों पर महिलायें 976
सदन व्यवस्था एक सदनीय
विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र 60
विधान परिषद् सीटे NA
संसदीय निर्वाचन क्षेत्र 2
राज्य सभा सीटे 1

 

मणिपुर का नक्शा

गूगल मैप की सहायता से बना हुआ मणिपुर का नक्शा

 

मणिपुर के जिले

क्र.सं. जिला का नाम लिंग अनुपात क्षेत्र (वर्ग किमी)
1 बिश्नुपुर 999 496
2 चंदेल 933 3317
3 चुराचांदपुर 975 4574
4 इम्फाल पूर्व 1017 710
5 इम्फाल वेस्ट 1031 519
6 सेनापति 959 3269
7 तामेंगलांग 943 4391
8 थोबल 1002 514
9 उखरूल 943 4547
10 वोखा
11 ज़ुन्हेबोटो

मणिपुर का इतिहास

 

मणिपुर का शाब्दिक अर्थ ‘आभूषणों की भूमि’ है। भारत की स्वतंत्रता के पहले यह रियासत थी। आजादी के बाद यह भारत का एक केंद्रशासित राज्य बना। मणिपुर भारत का एक राज्य है। इसकी राजधानी है इंफाल। मणिपुर के पड़ोसी राज्य हैं: उत्तर में नागालैंड और दक्षिण में मिज़ोरम, पश्चिम में असम; और पूर्व में इसकी सीमा म्यांमार से मिलती है। इनकी भाषा मेइतिलोन है, जिसे मणिपुरी भाषा भी कहते हैं। यहाँ के लोग संगीत तथा कला में बड़े प्रवीण होते हैं। यहाँ यद्यपि कई बोलियाँ बोली जाती हैं। पहाड़ी ढालों पर चाय तथा घाटियों में धान की उपजें प्रमुख हैं। पवित्र जंगल हैं, हमेशा बहने वाली नदियां हैं, पर्वतों-पहाड़ियों पर बिखरी हरी विभा है और टेढ़े-मेढ़े गिरने वाले झरने हैं। लोकटक झील यहां की एक महत्वपूर्ण झील है। इस प्रकार प्रकृति की प्राचीन गौरव है। राज्य की कला व संस्कृरति समृद्ध है जो विश्व मानचित्र पर इसकी समृद्धि को दर्शाती है।

मणिपुर के लोग-यहां तीन प्रमुख जनजातियां निवास करती हैं। घाटी में मीतई जनजाति रहती है तो नागा और कूकी-चिन जनजातियां पहा‍ड़ियों पर रहती हैं। प्रत्येक जनजाति वर्ग की खास संस्कृति और रीति रिवाज हैं जो इनके नृत्य, संगीत व पारंपरिक प्रथाओं से दृष्टिगोचर होता है। मणिपुर के लोग कलाकार होते हैं साथ ही सृजनशील होते हैं जो उनके द्वारा तैयार खादी व दस्तकारी के उत्पादों में झलकती है

Comments are closed.