करौली़ राजस्थान

करौली जिला राजस्थान के जिलो में से १ है और ये भरतपुर मण्डल में आता है, करौली जिले में ३०० से ज्यादा मंदिर है, और करौली जिले का मुख्यालय करौली नगर में ही है।

करौली जिले का क्षेत्रफल ५०४३ वर्ग किलोमीटर है और २०११ की जनगणना के अनुसार करौली की जनसँख्या १४५८२४८ और जनसँख्या घनत्व २६४ व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है, करौली की साक्षरता ६७% है,करौली में ८५८ महिलाये प्रति १००० पुरुषो पर है और २००१ से २०११ के बीच जनसँख्या विकासदर २१% रही है।

करौली भारत में कहाँ पर है

करौली भारत के राजस्थान राज्य में दक्षिण पूर्वी जिला है, करौली के अक्षांस और देशांतर क्रमशः २६ डिग्री ५ मिनट उत्तर से ७७ डिग्री २ मिनट पूर्व तक है, समुद्रतल से करौली की ऊंचाई २७५ मीटर है, राजस्थान की राजधानी जयपुर से करौली १८० किलोमीटर दक्षिण पूर्व में है और देश की राजधानी दिल्ली से ३५० किलो मीटर दक्षिण में है।

करौली जिले के पडोसी जिले

करौली जिले के उत्तर में आधा भरतपुर और आधा दौसा जिला है, और यही जिले उत्तर पूर्व और उत्तर पश्चिम में भी है, पूर्व में धौलपुर जिला है, दक्षिण पूर्व और दखिन में मध्य प्रदेश के जिले मोरेना और शेओपुर है जबकि जिले के पश्चिमी और दक्षिण पश्चिम में सवाई माधोपुर जिले है।

Information about Karauli in Hindi

नाम करौली
राज्य राजस्थान
क्षेत्र 674 किमी 2
करौली की जनसंख्या 82, 9 60
अक्षांश और देशांतर 26.4883 डिग्री न, 77,0161 डिग्री ई
करौली का एसटीडी कोड 7464
करौली का पिन कोड 322,241
जिला मजिस्ट्रेट (डीएम कलेक्टर) श्री मनोज कुमार ..
पुलिस अधीक्षक (एसपी / एसएसपी) अनिल कायाल
मुख्य विकास अधिकारी श्री नरेंद्र कुमार जैन
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अशोक जैन
संसद के सदस्य मनोज राजोरिया
विधायक रमेश मीना
उपखंडों की संख्या
तहसील की संख्या 6
गांवों की संख्या 892
रेलवे स्टेशन करौली में रेलवे स्टेशन
बस स्टेशन करौली बस स्टैंड
कराओली में एयर पोर्ट निकटतम हवाईअड्डा-हवाई अड्डा, आगरा
करौली में होटल की संख्या 27
डिग्री कॉलेजों की संख्या 10
अंतर कॉलेजों की संख्या 10
मेडिकल कॉलेजों की संख्या 2
इंजीनियरिंग कॉलेजों की संख्या 12
करौली में कंप्यूटर केंद्र 6
कैलौली में मॉल 2
कराओली में अस्पताल 4
करौली में विवाह हॉल 1
नदी (एस) कलिसिस नदी
उच्च मार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग 23
ऊंचाई 275 मीटर (9 2 फुट)
घनत्व 264 व्यक्ति / वर्ग किलोमीटर
आधिकारिक वेबसाइट Http://www.karauli.rajasthan.gov.in/content/raj/karauli/en/home.html
साक्षरता दर 53%,
बैंक सहकारी बैंक, इलाहाबाद बैंक, इंडियन बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, एसबीआई, कैनरा बैंक, आई.डी.बी.आई बैंक, यस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक, यूको बैंक, एक्सिस बैंक, विजया बैंक, पंजाब नेशनल बैंक
प्रसिद्ध नेता (ओं) अर्जुन देव
राजनीतिक दलों भाजपा, बसपा, सीपीआई, कांग्रेस
आरटीओ कोड आरजे 34
आधार कार्ड केंद्र 4
स्थानीय परिवहन टैक्सी, कार, बस, ट्रेन, हवाई अड्डे
मीडिया समाचार पत्र, ग्रामीण / शहरी होने के रेडियो, ट्रांजिस्टर, मीडिया, टेलीविजन
विकास 20.55%
यात्रा स्थलों करौली सिटी पैलेस, देवी मंदिर, श्री महावीर जी जैन मंदिर, श्री महावीरजी जैन मंदिर। मंडन मोहनजी मंदिर, कल्याणजी मंदिर, इलादेवी वन्यजीव अभयारण्य
आयुक्त एनए

 

करौली़ का नक्शा मानचित्र मैप


गूगल मैप द्वारा निर्मित करौली़ का मानचित्र, इस नक़्शे में करौली़ के महत्वपूर्ण स्थानों को दिखाया गया है

करौली़ जिले में कितनी तहसील है

करौली जिले में ६ तहसीलें है, इन तहसीलों के नाम 1. हिंडौन 2. करौली 3. मंडरायल 4. नादौती 5. सपोटरा 6. टोडाभीम है, इन ६ तहसीलों में ग्रामो की संख्या के आदर पर करौली तहसील सबसे बड़ी तहसील है और मंडरायल तहसील सबसे छोटी तहसील है।

करौली़ जिले में विधान सभा की सीटें

करौली जिले में 3 विधान सभा क्षेत्र है इन विधान सभा सीटों के नाम 1. हिंडौन (सच), 2. करौली, 3. सपोटरा (सत), इन 3 विधान सभा क्षेत्रो में २ विधानसभा क्षेत्र अनुसूचित जाती के लोगो की है।

करौली़ जिले में कितने गांव है

करौली जिले में गांव है जो की जिले की ६ तहसीलों के अंदर आते है, ग्रामो की संख्या तहसील के नाम के अनुसार इस प्रकार से है 1. हिंडौन में १६५ गांव है, 2. करौली तहसील में २०७ गांव है 3. मंडरायल में ७७ गांव है, 4. नादौती तहसील में १०६ गांव है, 5. सपोटरा में १७५ गांव है और 6. टोडाभीम तहसील में १५० गांव है

Karauli History in Hindi

करौली महाभारत काल में मत्स्य राज्य का भाग था, उस समय आज के समय का अलवर भी इसकी का हिस्सा था, चंद्रवंसी महाराजा यदु की संताने मथुरा राज्य के बाद यहाँ के शासक बने, ये भी भगवन कृष्ण के ८८वे वंसज थे, और उन्होंने ही सन ९०० में करौली राज्य की स्थापना मत्स्य राज्य से अलग होकर की, १३४८ से यहाँ नगर एक राज्य के रूप में अस्तित्व में आया उस समय वहां के राजा के पास २८१ रथ, हाथी और घुड़सवार थे, १६४० पैदल सैनिक और ५६ बंदूके थी, और १८९२ तक उनको और उनके वंशजो को १३ बंदूको की सलामी मिलती रही, इसके बाद अंग्रेजो ने इस पर अपना अधिपत्य कर लिया जो की १९४७ तक रहा, करौली राज्य मूलतः महाराजा अर्जुन देव पाल ने स्थापित की थी.

करौली का इतिहास

करौली एक ऐतिहासिक नगर है। यह करौली जिला का मुख्यालय है। इसकी स्था्पना 955 ई. के आसपास राजा विजय पाल ने की थी जिनके बारे में कहा जाता है कि वे भगवान कृष्ण के वंशज थे। 1947 में भारत की आजादी के बाद यहां के शासक महाराज गणेश पाल देव ने भारत का हिस्सा  बनने का निश्चनय किया। 7 अप्रैल 1949 में करौली भारत में शामिल हुआ और राजस्थाकन राज्या का हिस्साक बना। यहां का सिटी पेलेस राजस्थान के प्रमुख पर्यटक स्थलों में से एक है। मदन मोहन जी का मंदिर देश-विदेश में बसे श्रृद्धालुओं के बीच बहुत लोकप्रिय है। अपने ऐतिहासिक किलों और मंदिरों के लिए मशहूर करौली दर्शनीय स्थंल है।

 


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *