पूर्ब मेदिनीपुर जिला पश्चिम बंगाल

पूर्ब मेदिनीपुर जिला पश्चिम बंगाल के जिलों में एक जिला है, और इसका मुख्यालय तामलुक है, जिले में 4 तहसील है, 25 खंड या ब्लॉक है और 16 विधान सभा क्षेत्र है और 4 लोकसभा है।

पूर्ब मेदिनीपुर जिला

पूर्ब मेदिनीपुर जिले का क्षेत्रफल 4,736 किमी 2 (1,829 वर्ग मील) है और २०११ की जनगणना के अनुसार पूर्ब मेदिनीपुर की जनसँख्या लगभग 5,094,238 है और जनसँख्या घनत्व 1076 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है, पूर्ब मेदिनीपुर की साक्षरता 87.66% है, महिला पुरुष अनुपात यहाँ पर 936 है, जिले की जनसँख्या विकासदर २००१ से २०११ के बीच 15.32% रही है।

पूर्ब मेदिनीपुर जिला भारत में कहाँ पर है

पूर्ब मेदिनीपुर जिला भारत के राज्यो में पूर्व में स्थित पश्चिम बंगाल राज्य में है, पूर्ब मेदिनीपुर जिला पश्चिम बंगाल के दक्षिणी भाग में है और पूर्ब मेदिनीपुर 22°3′ उत्तर 87°92′ पूर्व के बीच स्थित है और इसके दक्षिण पश्चिम में ओडिशा के जिले है, पूर्ब मेदिनीपुर की समुद्रतल से ऊंचाई 7 मीटर है, पूर्ब मेदिनीपुर पश्चिम बंगाल की राजधानी कलकत्ता से 144 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम में राष्ट्रिय राजमार्ग 16 पर है और भारत की राजधानी दिल्ली से 1611 किलोमीटर दक्षिण पूर्व की तरफ राष्ट्रिय राजमार्ग 19 पर है।

पूर्ब मेदिनीपुर जिले के पडोसी जिले

पूर्ब मेदिनीपुर जिले के उत्तर में हावड़ा जिला है, पश्चिम में पश्चिम मेदिनीपुर जिला है, दक्षिण पश्चिम में ओडिशा का बालेश्वर जिला है, दक्षिण पश्चिम से दक्षिण पूर्व तक बंगाल की खाड़ी है, और पूर्व में दक्षिण २४ परगना जिला है।

Information about Purba Medinipur in Hindi

नाम पूर्ब मेदिनीपुर
मुख्यालय तामलुक
राज्य पश्चिम बंगाल
क्षेत्रफल 4,736 किमी 2 (1,829 वर्ग मील)
जनसंख्या (2011) 5,094,238
पुरुष महिला अनुपात 936
विकास 15.32%
साक्षरता दर 87.66%
जनसंख्या घनत्व 1,076 / किमी 2 (2,790 / वर्ग मील)
ऊंचाई 7 मीटर (23 फीट)
अक्षांश और देशांतर 22°3′ उत्तर 87°92′ पूर्व
एसटीडी कोड 91-3228
पिन कोड 721636
तहसील 4
खंड 25
लोकसभा क्षेत्र 4
विधानसभा क्षेत्र 16
रेलवे स्टेशन मुर्शिदाबाद रेलवे स्टेशन
एयर पोर्ट कोलकाता हवाई अड्डा
नदी (ओं) जलांगी, हुगली, पद्मा नदी, ब्राह्मणी नदी, बकरेश्वर नदी
उच्च मार्ग NH 12, NH 19
आधिकारिक वेबसाइट http://www.murshidabad.gov.in/
आरटीओ कोड WB57, WB58

पूर्ब मेदिनीपुर जिले का नक्शा मानचित्र मैप

पूर्ब मेदिनीपुर जिले में कितनी तहसील ब्लॉक और उपमंडल है

पूर्ब मेदिनीपुर जिले में प्रशासनिक विभाजन, उप मंडल 4 है, तालुके जिनको तहसील कहते है, ये जिले में 4 और इनके नाम तमलुक, हल्दिया, इग्रा, कोणते है और जिले में 25 खंड है जिनको ब्लॉक भी कहते है इनके नाम कांति -1, कन्थी-द्वितीय, कन्थी-तृतीय, खेजूरी -1, खेजूरी -II, रामनगर -1 और रामनगर-द्वितीय, भगवानपुर -1, भगवानपुर -2, एज्रा -1, एग्ररा -II, पतसपुर-1 और पतसपुर-द्वितीय, नंदकुमार, माया, तामलुक, शाहिद माटंगी, पंसकुरा -1, पंसकुरा -2 और चांदपुर (नादिग्राम-तृतीय), महिषादल, नंदीग्राम -1, नंदीग्राम-द्वितीय, सुताहत और हल्दिया है ।

पूर्ब मेदिनीपुर जिले में विधान सभा और लोकसभा की सीटें

पूर्ब मेदिनीपुर जिले में 16 विधानसभा क्षेत्र है जिनके नाम तमलुक, पंसकुरा पूरबा, पंसकुरा पश्चिम, मोया, नंदकुमार, महिषादल, हल्दिया, नंदीग्राम, चंडीपुर, पटशपुर, कंठी उत्तर, भगवाननपुर, खेजूरी, कंठी दक्षिण, रामनगर, ईग्रा और जिले में 4 संसदीय क्षेत्र है जिनके नाम कंठी (कंटाई), तमलुक, घाटल (आंशिक रूप से), मेदिनीपुर (आंशिक रूप से) है।

पूर्ब मेदिनीपुर जिले का इतिहास

ब्रिटिश भारत में एक बहुत बड़ा भूभाग मेदिनीपुर के नाम से विख्यात था इसके अंदर से ही पूर्ब मेदिनीपुर जिले को निकला गया था, इसका इतिहास बहुत प्राचीन है और उस काल में यह ताम्रलिप्त के नाम से विख्यात था, और यह प्राचीन भारत का एक समृद्ध राज्य था जिसका वर्णन टॉलेमी ने भी अपने लेखो में किया था, ग्रीक इजिप्टियन लेखक फक्सियन ने यहाँ पर बहुत से चीन जैसे बने हुए बौद्ध मठो का वर्णन किया था, इस लेखक ने अपनी सम्पूर्ण यात्रा पेडल ही पूर्ण की थी, यहाँ पर ७वी शताब्दी में व्हेनसांग भी आया था और इस समृध्द प्रदेश का वर्णन किया क्युकी यह प्रदेश उस समय भी मौर्य राजवंश के प्रतापी राजा अशोक के अधीन था। स्वतंत्रता के बाद मेदिनीपुर जिले को २ भागो में बाँट दिया गया, जो की पूर्व और पश्चिम मेदिनीपुर जिलों के नाम से विख्यात हुए थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *